DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खबर का असर : बस स्डैंड को रंगदारों से मुक्त

वरीय संवाददातापटना। वरीय अधिकारियों के आदेश के बाद जक्कनपुर पुलिस ने मीठापुर बस स्टैंड को रंगदारों और एजेंटों से मुक्त कराने का अभियान शुरू कर दिया। शनिवार को ‘हिन्दुस्तान’ में प्रकाशित खबर ‘नहीं खत्म हुई बस स्टैंड से रंगदारी’ को पुलिस ने गंभीरता से लेते हुए पिंटू सिंह और कुंदन सिंह के वैसे लागों को चिन्हित करना शुरू कर दिया जिससे बस स्डैंड में अराजकता और दहशत का माहौल था। इसी अभियान के क्रम में पुलिस ने रविवार को पिंटू सिंह गिरोह के सुनील सिंह (बैकठपुर), बिरजू सिंह (तकिया पर, दानापुर) व कुंदन सिंह ग्रुप के रामजनम शर्मा (मोमीनपुर, हिलसा) और धीरज शर्मा (बम्हई, अरवल) को गिरफ्तार कर लिया। पिंटू सिंह गिरोह के गिरफ्तार बिरजू सिंह ने थाने में अपना पता तकिया पर, दानापुर बताया है पर सूत्र बताते हैं कि वह मूल रूप से गया जिले के टिकारी थाना क्षेत्र के राजपुर परसामा गांव का निवासी है और इसपर टेकारी थाने में भी मामले दर्ज हैं। जक्कनपुर थानाध्यक्ष रणजीत कुमार ने बताया कि गिरफ्तार किए गए सारे लोगों के आपराधिक रिकार्ड की छानबीन की जा रही है। इन गिरफ्तार लोगों के अलावा पुलिस वैसे अन्य एजेंटो और रंगदारों की खोज में लगी है जिनका स्टैंड पर दबदबा है। गौरतलब है कि नब्बे के दशक से बस स्टैंड पर वर्चस्व की चली आ रही जंग में अबतक पचास से अधिक लोगों की जान जा चुकी है। राज्य और राजधानी में अपराध भले ही कम हो गए पर पहले हार्डिग पार्क और बाद में मीठापुर स्थानांतरित बस अड्डे पर अब भी अपराधियों और अवांछित तत्वों का साम्राज्य है। कुंदन सिंह प्रकरण के बाद हरकत में आयी पुलिस की रविवार को शुरू हुई कार्रवाई के बाद रंगदार एजेंटों में दहशत व्याप्त हो गयी है। बताया जाता पुलिस की कार्रवाई शुरू होते ही कई एजेंट भूमिगत हो गए हैं।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: खबर का असर : बस स्डैंड को रंगदारों से मुक्त