DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांट्रैक्ट विद्युतकर्मी नियमित हों

पटना (हि.ब्यू.)। कांट्रैक्ट पर तैनात विद्युतकर्मियों की नियमित बहाली के लिए विद्युत कर्मचारी पदाधिकारी-अभियंता समन्वय समिति ने संघर्ष का एलान किया है। समिति इसी मुद्दे पर 15 फरवरी को बोर्ड मुख्यालय के समक्ष धरना देगी। समिति के संयोजक बी.एल. यादव ने कहा कि बिजली बोर्ड में एक समय में 40 हजार विद्युतकर्मी कार्यरत थे जो अब घटकर 10 हजार रह गए हैं। शेष रिक्त पदों पर 4000 तकनीकी कर्मचारी कार्यरत हैं और वे भी कांट्रैक्ट पर। इन्हें मानदेय के रूप में 5 हजार, 8 हजार और 10 हजार रुपए दिए जाते हैं जबकि नियमित कर्मियों को क्रमश: 20,30 और 40 हजार रुपए मिलते हैं। ऐसे में कांट्रैक्ट कर्मियों का बोर्ड द्वारा शोषण किया जा रहा है। श्री यादव ने कहा कि इनसे काम लेने में औद्योगिक कानून का उल्लंघन भी किया जा रहा है। उन्होंने इन कर्मियों की नियमित बहाली नहीं करने की स्थिति में संघर्ष की घोषणा की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कांट्रैक्ट विद्युतकर्मी नियमित हों