DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वैट में भी व्यापारियों को नहीं मिली राहत

ऑिडट के नाम पर भयादोहन कर रहे हैं अिधकारीिहन्दुस्तान प्रितिनिधपटना। िपछले कुछ महीने से वािणज्य कर पदािधकािरयों को व्यवसािययों को दुहने की एक और राह िमल गई है। व्यापािरयों का कहना है कि राज्य में वैट लागू होने के 2005-06 से वैट ऑिडट का प्रावधान लागू किया गया थाजिंसके तहत चयिनत व्यवसािययों के उस वर्ष के दावों की आिडट की जानी है। सर्व प्रथम वैट में असेसमेंट का कोई प्रावधान नहीं है। उपिस्थत साक्ष्य एवं िरटर्न के आंकडेम् के अनुसार पदािधकािरयों को उस फाइल स्क्रूअनी करनी है एवं कोई गिणतीय गलती पाए जाने पर उसकी जांच की सत्यता सत्यािपत करनी है उसकी जगह पदािधकारी उसे असेसमेंट का नाम देकर व्यापािरयों को गुमराह कर उनका भयादोहन कर रहे हैं और िनजी स्वार्थ की पूिर्त कर रहे हैं। व्यापािरयों का कहना है कि वैट ऑिडट की नोिटस व्यापािरयों को 15 िदन पर्व तािमल होनी चािहए। उसके बाद ही वैट ऑिडट की जानी चािहए, किन्तु पदािधकारी आनन-फानन में 5-6 िदन पूर्व नोिटस तािमल कर व्यवसायी के व्यवसाय स्थल पर पहुंच जाते हैं और िविभन्न प्रकार के हथकंडे अपनाते हैं कि आपको रिजस्ट्री से नोिटस एक महीने पहले भेजी जा चुकी है। और तो और किसी भी कागजात एवं सुनवाई की तारीख पर भी कोई अिधकारी वहां मौजूद नहीं पाया जाता है और कर्मचारी कोई कागजात लेने से इंकार करते हैं। इस चक्कर में कई-कई व्यवसािययों का एक पक्षीय आदेश भी पािरत कर िदया जाता है जो किसी भी प्रकार से न्याय संगत नहीं है। ‘वैट ऑिडट िवभाग को चुस्त दुरूस्त करने की अिवलंब कार्रवाई होनी चािहए ताकि वािणज्य कर आदेश का पालन करते हुए वैट ऑिडट की कार्रवाई की जाए तथा असेसमेंट के नाम पर पदािधकािरयों द्वारा किए जाने वाले को अिवलंब बंद करवाना चािहए।’ कमल नोपानी, अध्यक्ष, िबहार प्रादेिशक मारवाड़ी सम्मेलन

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: वैट में भी व्यापारियों को नहीं मिली राहत