DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आखिरकार दबोचा गया कुख्यात शौकत मियां पुलिस ने दर्जी टोला स्थित

वरीय संवाददातापटना। बीते तीन माह से कुख्यात अपराधी शौकत मियां की टोह में लगी पटना पुलिस को रविवार को सफलता हाथ लग ही गई। पुलिस की सक्रियता से अनभिज्ञ और बेखौफ शौकत रविवार को ज्योंहि पीरबहोर थाना के सिया मस्ज्दि गली के दर्जी टोला स्थित अपने घर पहुंचा कि उसके पीछे ही वहां पुलिस पहुंच गई और जबतक वह कुछ समझता पुलिस ने उसे अपनी हिरासत में ले लिया।सिटी एसपी मनु महाराज ने बताया कि टाउन डीएसपी शीला इरानी को शौकत के पटना में आने की भनक मिली थी। इसके बाद पीरबहोर थानाध्यक्ष एस ए हाशमी, कदमकुआं थानाध्यक्ष मुंद्रिका प्रसाद ओर रंगदारी सेल में कार्यरत सब-इंस्पेक्टर कैसर आलम की एक टीम गठित कर इन्हें शौकत को गिरफ्तार करने की जिम्मेवारी सौंपी गई। इस टीम ने इस जिम्म्ेवारी को बखूबी अंजाम दिया।एक लंबे अर्से से भूमिगत रहकर आपराधिक वारदातों को अंजाम देने वाला शौकत बीते 16 दिसम्बर को तब एक बार फिर से सुर्खियों में आया था जब पीरबहोर पुलिस ने इसके घर पर छापेमारी कर इसके गुर्गे अब्दुल सत्तार, मो. ऊसूर उर्फ शेरू, राजू सरदार उर्फ मनीष, शत्रुध्न चौधरी और किताबुद्दीन अंसारी को गिरफ्तार किया था। इन अपराधियों की निशानदेही पर गिरोह के चार अन्य सदस्यों चंदन सिंह, छोटन कुमार, पवन कुमार व संतोष कुमार को कुल्हडिम्या काम्पलेक्स के पास से उस समय गिरफ्तार किया जब ये एक व्यवसायी से पांच लाख रुपये लूटने की फिराक में थे। तब पुलिस ने शौकत मियां के पकड़े गए इन गुर्गो से 457 चक्र कारतूस, सात देशी पिस्तौल ओर प्वाईंट थ्री एट बोर का एक रेगुलर रिवाल्वर और चार बम बरामद किया था। पुलिस तभी से शौकत मियां की तलाश में लगी थी। अंतर्राज्यीय स्तर पर आपराधिक वारदातों को अंजाम देने वाले इस अपराधी का खौफ उसके इलाके में इस कदर था की जहां वह रहता था उसके आसपास के क्षेत्र को मिनी चंबल घाटी के नाम से जाना जाने लगा था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आखिरकार दबोचा गया कुख्यात शौकत मियां पुलिस ने दर्जी टोला स्थित