DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ग्रीन हंट की तर्ज पर ऑपरेशन की तैयारी आठ जिलों में

पटना(हि.ब्यू.)। नक्सलियों की जड़ उखाड़ने के लिए बिहार भी ग्रीन हंट की तर्ज पर ऑपरेशन को तैयार हो रहा है। पड़ाेसी राज्य झारखण्ड में ऑपरेशन ग्रीन हंट की प्रक्रिया शुरू होने के बाद बिहार सरकार ने भी नक्सलियों के गढ़ बने सूबे के कुछ चुनिंदा जिलों में नक्सल ऑपरेशन शुरू करने की तैयारी कर ली है। खासबात यह है कि बिहार में पहली बार नक्सल विरोधी ऑपरेशन के लिए स्पेशल अफसरों की तैनाती का फैसला किया है। नक्सल प्रभावित जिले औरंगाबाद, रोहतास, जमुई, मुंगेर, नवादा, पूर्वी चंपारण, सीतामढ़ी और गया में एएसपी (ऑपरेशन)की तैनाती की जाएगी। कहा जा रहा है कि नक्सल प्रभावित जिलों के एसपी पर से नक्सल ऑपरेशन के दबाव को कम करने के लिए ही यह निर्णय लिया गया है। एएसपी(ऑपरेशन) के पद पर तेज तर्रार अफसरों की तैनाती होगी। इनमें राज्य पुलिस के अलावा बीएसएफ और सीआरीएफ जैसे केन्द्रीय अर्धसैनिक बलों के अफसरों को भी एएसी(ऑपरेशन) के पद पर प्रतिनियुक्त किया जा सकता है। कई नक्सल प्रभावित राज्यों में यह प्रयोग सफल भी बताया जा रहा है। एडीजी (मुख्यालय) यू.एस.दत्त ने भी कहा है कि दोनों ही संभावनाओं पर विचार किया जाएगा। गौरतलब है कि जंगल वारफेयर में ट्रेंड जवानों को ऑपरेशन ग्रीन हंट में लगाया जा रहा है, लेकिन बिहार में अभी तक इसकी शुरूआत नहीं हुई है। बावजूद इसके राज्य सरकार की कोशिश है कि नक्सलियों के खिलाफ लड़ाई को अंजाम तक पहुंचाया जाए। राज्य में नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन के लिए ग्रे हाउंड से जंगल वारफेयर में ट्रेंड एसटीएफ के अलावा सीआरपीएफ की 23 कंपनियां उपलब्ध हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ग्रीन हंट की तर्ज पर ऑपरेशन की तैयारी आठ जिलों में