DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आपूर्ति सुधारने के लिए बदले जायेंगे पांच हजार ट्रांसफार्मर सरकार ने

पटना (हि.ब्यू.)। राज्य में बिजली आपूर्ति व्यवस्था दुरुस्त करने के लिए 4905 ट्रांसफार्मरों की जरूरत है। राज्य सरकार ने इसके लिए 84.36 करोड़ रुपये की योजना तैयार की है। फिलहाल विद्युत बोर्ड को इस काम के लिए 12.62 करोड़ रुपये कर्ज दिये जा रहे हैं। इसी प्रकार बरौनी बिजली घर के विस्तार के लिए 180 करोड़ और नबीनगर बिजली घर की जमीन अधिग्रहण के लिए भी बोर्ड को 33 करोड़ रुपये कर्ज दिये जायेंगे। ऊर्जा विभाग ने इस बाबत प्रस्ताव तैयार कर लिया है। विद्युत बोर्ड आम तौर पर जले ट्रांसफार्मर की रिपेयरिंग वर्कशॉप में मरम्मत कराता है। लेकिन इससे ट्रांसफार्मरों की जरूरत पूरी नहीं हो पाती। गत दिनों प्राधिकार समिति की बैठक में आपूर्ति व्यवस्था सुधारने और नये इलाकों तक बिजली पहुंचाने के लिए 4905 पावर और वितरण ट्रांसफार्मर को बदलने की आवश्यकता जतायी गयी। इसके लिए विस्तृत योजना भी बन गयी है। बरौनी बिजली घर में 3066 करोड़ रुपये की लागत से 250-250 मेगावाट की दो नयी इकाईयां लगायी जा रही है। यह परियोजना 39-42 माह में पूरी हो जायेगी। वित्तीय वर्ष 2009-10 में खर्च के लिए विद्युत बोर्ड को 180 करोड़ रुपये दिये गये हैं। नबीनगर में एनटीपीसी और बोर्ड की 50:50 हिस्सेदारी में 660-660 मेगावाट की तीन इकाईयां लगायी जा रही हैं। जमीन के अधिग्रह्ण और अन्य कार्यो के लिए बोर्ड को फिलहाल 33 करोड़ रुपये दिये जा रहे हैं। वैसे चालू वित्तीय वर्ष में बोर्ड की हिस्सेदारी 95 करोड़ रुपये हैं। बरौनी विस्तार परियोजना पर वर्षवार खर्चवर्ष राशि (करोड़) 2007-08 102008-09 ---2009-10 1802010-11 508.752011-12 976.852012-13 837.32013-14 554.22कर्ज की शर्त- कर्ज-ब्याज का भुगतान दस वर्षो में होगा- पहली किस्त अदायगी निकासी के एक वर्ष बाद से- लगेगा 13 प्रतिशत सालाना ब्याज - समय पर कर्ज नहीं लौटाने पर 2.5 प्रतिशत जुर्माना- समय पर भुगतान पर ब्याज में 0.25 प्रतिशत की छूटं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आपूर्ति सुधारने के लिए बदले जायेंगे पांच हजार ट्रांसफार्मर सरकार ने