DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लगातार वृक्षों की कटाई से बढ़ रही है ग्लोबल वार्मिंग सभी

िहन्दुस्तान प्रितिनिधपटनालगातार पेड़-पौधों की कटाई की वजह से ग्लोबल वािर्मंग की समस्या बढ़ती जा रही है। लोग अपनी क्षिणक सुख-सुिवधा के िलए लगातार शहर के पेड़-पौधों को काट रहे हैं। यह जलवायु पिरवर्तन का सबसे बड़ा कारण है। ये बातें शिनवार को गंगा देवी मिहला कॉलेज में जलवायु पिरवर्तन पर आयोिजत सेिमनार में डा. िदवाकर तेजस्वी ने कही। उन्होंने कहा कि ज्यादातर रोगों का कारण दूिषत वातावरण, भोजन और पानी का सेवन है। यह कार्यक्रम आरवाईसीसी व आरआरए िबहार की ओर से आयोिजत किया गया था। कॉलेज की प्रो. कृष्णा कुमारी ने छात्राओं से एक-एक वृक्ष लगाने की अपील की। डा. वंदना ने सड़कों पर तेजी से बढ़ते वाहन, इंधन के रूप में प्राकृितक संसाधनोंे का दोहन आिद को जलवायु पिरवर्तन के िलएजिंम्मेदार माना। रंगकर्मी अिखलेश्वर प्रसाद िसन्हा ने छात्राओं से कम से कम तुलसी का एक-एक वृक्ष अपने घरों में लगाने की अपील की। इस मौके पर कला जागरण के अध्यक्ष गणेश िसन्हा, रोिहत कुमार, िनतेश कुमार चार्ली, नीतू कुमारी, िनवेिदता और ध्रुव कुमार भी मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: लगातार वृक्षों की कटाई से बढ़ रही है ग्लोबल वार्मिंग सभी