DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

माओवादियों के बंद के मद्देनजर रेल संपत्ति की चौकसी पटना-गया रेल

वरीय संवाददातापटना । भाकपा माओवादियों के रविवार को शुरू हुए चार राज्यों में 72 घंटे के बंद की घोषणा के मद्देनजर विशेष चौकसी बरती जा रही है। खासकर रेलवे की संपत्ति पर रेल पुलिस और आरपीएफ विशेष निगाह रख रही है। आरपीएफ के जवान संदिग्ध स्थलों पर रेलवे ट्रैकों की भी मेटल डिटेक्टर और विस्फोटक खोजी उपकरणों के सहारे जांच कर रहे है। नक्सली कार्रवाई की आशंका के मद्देनजर बिहार से होकर गुजरने वाली ट््ररेनों और महत्वपूर्ण व संवेदनशील रेलवे स्टेशनों पर पुलिस विशेष नजर रख रही है। खुफिया तंत्रों द्वारा इस दिशा में आगाह किए जाने के बाद इस्टर्न और इस्ट सेंट्रल रेलवे जोन में विशेष एहतियात बरती जा रही है। रेल आईजी, एस के भारद्वाज खुद रेलवे सुरक्षा उपायों की मॉनिटरिंग कर रहे हैं। रेल आईजी एस के भारद्वाज ने बताया कि सभी महत्वपूर्ण ट्रेनों व स्टेशनों पर अतिरिक्त सुरक्षा बल की प्रतिनियुक्ति की गई है। गौरतलब है कि भाकपा माओवादी ने केन्द्र सरकार द्वारा ग्रीन हंट ऑपरेशन चलाए जाने के विरोध में बिहार, झारखंड पश्चिम बंगाल और उड़ीसा में बहत्तर घंटे के बंद का आह्ववान किया है। राज्य पुलिस मुख्यालय सूत्रों के अनुसार बंद को लेकर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की गई है और संवेदनशील क्षेत्रों में गश्त बढ़ा दी गई है। गौरतलब है कि केन्द्रीय गृहमंत्री पी चिदम्बरम कोलकाता में नौ फरवरी को बिहार, झारखंड, उड़ीसा और पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्रियों के साथ माओवादियों के खिलाफ चलाए जाने वाले ऑपरेशन पर विचार विमर्श भी करेंगे जिसके कारण संगठन के अंदर बेचैनी बढ़ी हुई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: माओवादियों के बंद के मद्देनजर रेल संपत्ति की चौकसी पटना-गया रेल