DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश से जमीयत की गरिमा बढ़ी: कादरी

िहन्दुस्तान प्रितिनिधपटना। जमीयत उलेमा िबहार व झारखंड के महासिचव हाजी हुस्ने अहमद कादरी ने जमीयत उलेमा िहन्द के वर्तमान संगठनात्मक िववाद के िसलिसले में दायर मुकदमे पर िदल्ली हाईकोर्ट के आदेश का खरमकदम किया है। श्री कादरी ने बयान जारी कर कहा है कि कोर्ट के इस आदेश से जमीयत के दस्तूर की गिरमा बढ़ी है। दरअसल जमीयत उलेमा िहन्द का सही दावेदार कौन है इसको लेकर हजरत मौलाना अरशद मदनी व उनके भतीजे हजरत मौलाना महमूद मदनी के बीच िदल्ली हाईकोर्ट में सुनवाई चल रही थी। िपछले िदनों ही िदल्ली हाईकार्ट ने अरशद मदनी के पक्ष में िनर्णय िदया था। श्री कादरी ने कहा है कि जमीयत मुसलमानों की एक पुरानी राष्ट्रव्यापी व कल्याणकारी संस्था हैजिंसका संचालन जमीयत के सिंवधान के अनुसार होता है। उन्होंने कहा कि हजरत मौलाना अरशद मदनी की अध्यक्षता वाली इस संस्था को िवरोधी दल शुरू से ही अदालत को गुमराह करने का प्रयास कर रहे थे पर माननीय कोर्ट ने सही फैसला देकर जमीयत के सिंवधान को बचा िलया। श्री कादरी ने कहा कि अब िवरोधी लोग अदालत से बाहर जमीयत के िववाद को सुलझाने का ढोंग कर रहे है। उन्होंने कहा कि जमीयत की एकता को कमजोर करने वाली सारी सािजशों को नाकाम करते हुए यह संस्था मुल्क व िमल्लत के िनर्माण में अपनी भूिमका िनभाती रहेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश से जमीयत की गरिमा बढ़ी: कादरी