DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पेज एक के लिए जिस्ट---बिल में संशोधन न हुआ तो

लखनऊ। बसपा ने साफ कर दिया है कि वह महिला आरक्षण की विरोधी नहीं है लेकिन विधेयक मौजूदा स्वरूप में मंजूर नहीं है। पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह को इस बारे में पत्र लिखा है। मायावती ने कहा है कि विधेयक में एससी-एसटी की आरक्षित सीटों के अंदर ही इस वर्ग की महिलाओं के लिए 33 फीसदी आरक्षण का प्रस्ताव किया गया है जिससे हमारी पार्टी और सरकार सहमत नहीं है। प्रसं पूरी खबर पेज दो पर

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पेज एक के लिए जिस्ट---बिल में संशोधन न हुआ तो