DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मधेपुरा में तीन दिवसीय ग्रामीण नाट्य महोत्सव शुरू

मधेपुरा (भागलपुर), निज प्रतिनिधिभारतीय जन नाट्य संघ मधेपुरा के तत्वावधान में त्रिदिवसीय ग्रामीण नाट्य महोत्सव प्रारंभ हो गया है। स्थानीय शिवनंदन प्र. मंडल इंटर स्तरीय विद्यालय के मैदान में शुक्रवार की संध्या आयोजित नाट्य महोत्सव का उद्घाटन करते हुए जिला पदाधिकारी वीरेन्द्र प्रसाद यादव ने कहा कि कला - संस्कृति हमारे जीवन का अहम अंग है। उन्होंने संस्कृति की रक्षा के लिए आमलोगों को आगे आने का आह्वान किया। मुख्य अतिथि ई. प्रभाष कुमार ने कहा कि कला-संस्कृति का संरक्षण हर हाल में किया जाना चाहिए। विशिष्ट अतिथि पंडित परिमल यादव व बिहार इप्टा के सचिव आलोक कुमार ने भी इप्टा के महत्व को रेखांति किया। इस अवसर पर मधेपुरा इप्टा के कलाकारों द्वारा बाढम् त्रासदी से जुडम्ी नाटक ‘घो-घो रानी कितना पानी’ नाटक का मनमोहक प्रस्तुति की। कलाकार सुभाषचंद्र, रीतेश कुमार, सुरेश कुमार शशि सहित अन्य साथी कलाकारों द्वारा नाटक व गीत गायन का कार्यक्रम सराहनीय रही। वहीं कटिहार इप्टा द्वारा ‘मुनिया की दास्तान’ नामक नाटक का मंचन श्यामदेव राय, प्रवीण ठाकुर, कुमार सौरभ, मुकेश राय, गुंजन कौर, सुमित, पुष्पा कुमारी, पार्वती कुमारी, शमशेद आलम आदि कलाकारों द्वारा किया गया। कार्यक्रम के दौरान नारदी का मंचन ने ग्रामीण संस्कृति की झलक प्रस्तुत की। इस मौके पर इप्टा जिलाध्यक्ष डा. आलोक कुमार, दशरथ सिंह, डा. विनय चौधरी, तुरवसु बंटी आदि ने महती भूमिका निभायी ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मधेपुरा में तीन दिवसीय ग्रामीण नाट्य महोत्सव शुरू