DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीआरडीए से जब्त फाइलों की फॉरेंसिक जांच कराने की तैयारी

िहन्दुस्तान प्रितिनिधपटना पटना क्षेत्रीय िवकास प्रािधकार (िवघिटत), नगर िनगम व िबहार राज्य जल पर्षद में गोलमाल को लेकर चल रही िविजलेंस जांच में अिधकािरयों व कर्मचािरयों से पूछताछ का िसलिसला जारी है। जरुरत के मुतािबक िविजलेंस कार्यालय में बुलाकर अिधकािरयों व कर्मचािरयों से उनका पक्ष िलया जा रहा है। ब्यूरो सूत्रों के अनुसार इन कार्यालयों से जब्त फाइलों को फॉरेिंसक जांच में भेजने की तैयारी की जा रही है। फाइलों की िलखावट के सत्यापन के िलए हैंडराइिटंग एक्सपर्ट से भी िविजलेंस ब्यूरो सहयोग लेगा। ब्यूरो सूत्रों का कहना है कि फॉरेिंसक जांच से इस बात का खुलासा होगा कि फाइल कब िलखी गई और उसमें ओवरराइिटंग कब हुआ है। तीन दर्जन से ज्यादा अिधकािरयों व कर्मचािरयों की हैंडराइिटंग के नमूने(फाइलों से) ब्यूरो ने अपने कब्जे में िलया है। इसमें पूर्व नगर आयुक्त सेिंथल कुमार, अपर नगर आयुक्त, कार्यपालक अिभयंता, सहायक अिभयंता, कनीय अिभयंता, सहायक, सर्वेयर व कुछ पूर्व इंजीिनयर शािमल बताए जा रहे हैं। फाइलों की िलखावट और अिधकािरयों व कर्मचािरयों की हैंडराइिटंग की जांच एक्सपर्ट से करायी जाएगी। कहा जा रहा है कि िपछले 41 िदनों से चल रही जांच में कई चौंकाने वाले मामले भी िमले हैं। िविजलेंस कार्यालय में हुई पूछताछ में परत-दर परत कई राज पर से पर्दा उठा है। जैसे-जैसे जांच आगे बढ़ रही है वैसे-वैसे कई अहम सुराग भी हाथ लगे हैं। कहा यह भी जा रहा है कि इस गोरखधंधे में एक अपर नगर आयुक्त व दो पूर्व इंजीिनयरों ने अहम भूिमका अदा की है। दस्तावेजों की पड़ताल का िसलिसला जारी है। पार्षदों से िमली जानकािरयां और उनके द्वारा उपलब्ध कराये गए कागजातों को परखा जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पीआरडीए से जब्त फाइलों की फॉरेंसिक जांच कराने की तैयारी