DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्कूल संचालक का फिर सड़क पर कब्जे का प्रयास सड़क पर कब्जा

कार्यालय संवाददाता लखनऊ कानपुर रोड स्थित एलडीए कालोनी में नौ मीटर चौड़ी सड़क पर स्कूल प्रबंधन के कब्जे के प्रयास से नाराज स्थानीय लोगों ने शुक्रवार को फिर प्रदर्शन और हंगामा किया। लोगों ने काम कर रहे मजदूरों को खदेड़ दिया। प्राधिकरण ने एलडीए कालोनी कानपुर रोड के सेक्टर एल में सेण्ट मैरी स्कूल को कुछ समय पहले जमीन आवंटित की थी। इन दिनों स्कूल की बाउण्ड्रीवॉल उठाई जा रही है। इसी जमीन से सटी नौ मीटर रोड निकली है जो सेक्टर एल को बंगला बाजार से जोड़ती है। एलडीए इंजीनियरों की मौजूदगी में स्कूल संचालक ने लगभग एक हफ्ते पहले भी सड़क पर कब्जे का प्रयास किया था। लेकिन स्थानीय निवासियों के विरोध के बाद उसे काम बंद करना पड़ा था। शुक्रवार को उसने फिर इंजीनियरों की मौजूदगी में निर्माण शुरू कराया। जैसे ही इसकी जानकारी स्थानीय निवासियों को हुई वे मौके पर पहुँच गए। लोगों ने विरोध-प्रदर्शन शुरू कर दिया। पुलिस भी मौके पर पहुँच गई। लोगों ने योजना का काम देख रहे अधिशासी अभियन्ता सुबोध राय से फोन पर बात की तो उन्होंने कहा कि बाउण्ड्रीवॉल बनने दें, बाद में वे इसे तुड़वाकर रास्ता निकलवा देंगे। इस पर लोगों ने सवाल उठाया कि अधिशासी अभियन्ता यहाँ के पार्को में हुआ एक भी अवैध निर्माण नहीं हटा पाए हैं। सड़क से कैसे कब्जा हटवाएँगे। स्कूल संचालक राजेश मैसी ने कहा कि एलडीए ने उन्हें जो जमीन दी है वे उसी पर दीवार उठवा रहे हैं। उनका कहना है रास्ता कब्रिस्तान के अन्दर से है।-----------------एलडीए उपाध्यक्ष ने अधिशासी अभियन्ता को फटकाराप्राधिकरण उपाध्यक्ष मुकेश मेश्राम ने अधिशासी अभियन्ता सुबोध राय को इस मामले में फटकार लगाई है। ‘हिन्दुस्तान’ से उन्होंने कहा कि सड़क पर किसी को कब्जे की इजाजत नहीं दी जाएगी। इंजीनियरों ने गलत लीज प्लान बनाया है तो वे ठीक कराएँगे। उन्होंने कहा कि जमीन की स्कूल के पक्ष में रजिस्ट्री हुई है तो उसे निरस्त कराकर उसका पैसा वापस कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि एलडीए स्कूल की जमीन पर 60 प्रतिशत की छूट देता है। फिर भी अगर कोई सड़क पर कब्जा करता है तो ठीक नहीं है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: स्कूल संचालक का फिर सड़क पर कब्जे का प्रयास सड़क पर कब्जा