DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नई चुनौतियों से रूबरू दो पड़ोसी

आनंद सिन्हा लखनऊ‘फलाने को जिताना है..अरे यार देखो जरा पंडितजी आए हैं..बात खाली न जाए..। लगो न इनके लिए कोई दिक्कत हो तो बताओ..अच्छा ऐसा करो जरा फलनवे को भेजना जेल..कहना हम बुलाए हैं..इस बार चूक न हो..।’ ये किसी फिल्म के डायलाग नहीं, बल्कि आसन्न पंचायत चुनावों के मद्देनजर जेलों में बंद माननीयों और बाहुबलियों द्वारा गाँव-देहात में भेजे जा रहे संदेशों की बानगी भर है। पंचायत चुनाव भले ही अभी पाँच महीने दूर हैं, पर जेलों में बंद बाहुबली और माननीय सीखचों के पीछे से ही सियासी गोटें सेट करने में लगे हैं।बाहुबली माननीयों की यह कवायद पुलिस-प्रशासन के लिए परेशानी का सबब बन गई है। पंचायत चुनाव में किस्मत आजमाने की ख्वाहिश रखने वाले भी कम नहीं है। बाहुबलियों की सर्विलांस कर रहे पुलिस अफसरों और जेल महकमे के सूत्रों की मानें तो कोई गाजीपुर जेल के चक्कर लगा रहा है तो कोई आजमगढ़ के। किसी ने फैजाबाद जेल में डेरा जमा रखा है तो कोई वाराणसी में बाहुबलियों को खुश करने में लगा है।ये हालात तब हैं जबकि पंचायत चुनावों की अभी तारीखें तय नहीं हैं और न ही आरक्षण पर अंतिम फैसला हुआ है। शायद ऐसी ही वजहों के कारण मुख्य सचिव अतुल कुमार गुप्ता ने दो दिन पहले ही पंचायत चुनावों की तैयारी पर गृह विभाग को कमर कसने के निर्देश दिए हैं। एडीजी कानून-व्यवस्था बृजलाल जिलों में समीक्षा बैठकों के दौरान पुलिस को चुनाव की तैयारी करने पर चौकन्ना रहने की हिदायत दे रहे हैं।राष्ट्रीय लोकदल के महासचिव व पूर्व मंत्री मुन्ना सिंह चौहान ने कहा है कि यही हाल रहा तो पंचायत चुनाव निष्पक्ष नहीं हो पाएँगे। जेलों में बंद बाहबुलियों को दूसरे जेलों में शिफ्ट करना होगा। वरना बार-बार संदेशा देकर नामांकन करने वालों को जेल में बुलाकर धमकाया जाएगा।एडीजी कानून-व्यवस्था बृजलाल :- ‘समीक्षा बैठकों में पुलिस अधीक्षकों और ग्रामीण इलाकों में तैनात थानेदारों को हिदायत दी गई है कि चुनावों के चलते तनाव हो सकता है। ऐसे में हालात पर पूरी नजर रखें और चौकन्ने रहकर कार्रवाई करें, ताकि शांति-व्यवस्था भंग न होने पाए।’जेलें जहां बंद हैं माननीय..आजमगढ़---सांसद उमाकांत यादववाराणसी----अमरमणि त्रिपाठीफैजाबाद-----आनंद सेनबाराबंकी-----शेखर तिवारीदेवरिया-------जमुना प्रसादमुरादाबाद-----उस्मानुल हकसुल्तानपुर----चंद्रभद्र सिंहगाजीपुर------मुख्तार अंसारीपीलीभीत-----त्रिभुवन सिंह

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नई चुनौतियों से रूबरू दो पड़ोसी