DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईएमए की यक्ष्मा नियंत्रण मुहिम

पटना। ग्लोबल फंड फॉर टय़ूबरक्यूलासिस, एड्स एंड मलेरिया पुनरीक्षित राष्ट्रीय यक्ष्मा नियंत्रण कार्यक्रम तथा आईएमए के संयुक्त नेतृत्व में बिहार में जानलेवा बीमारियों के विरूद्ध एक मुहिम की शुरुआत की गई। इसके साथ ही वर्ष 2015 तक यक्ष्मा को नियंत्रित करने का संकल्प लिया गया। गुरुवार को इस संदर्भ में आईएमए के पदाधिकारियों ने एक बैठक का आयोजन किया।बैठक में यह निर्णय लिया गया कि प्रांतीय मुख्यालय स्तर पर मई महीने में राज्य टीबी सेल का गठन किया जाए। पूरे बिहार में इस कार्य के लिए दो यूनिटों के समन्यवक निर्वतमान प्रान्तीय अध्यक्ष डा.रमण कुमार वर्मा होंगे। मुख्यालय स्तर पर प्रांतीय महासचिव डा. ए के यादव समन्वयक का उत्तरदायित्व संभालेंगे। वहीं बिहार आईएमए के प्रदेश अध्यक्ष डा.रमेश प्रसाद सिंह इसकी अध्यक्षता करेंगे।सभी निजी चिकित्सकों को इस कार्यक्रम में सम्मिलित करने की योजना है ताकि यक्ष्मा के सभी रोगी इससे लाभ उठा सकें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आईएमए की यक्ष्मा नियंत्रण मुहिम