DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अल्पसंख्यक विद्यालयों के शिक्षक-कर्मियों को छठा वेतन शीघ्र माध्यमिक शिक्षक संघ

पटना (हि.ब्यू.)। राज्य के अल्पसंख्यक माध्यमिक विद्यालयों के शिक्षकों व कर्मचारियों को शीघ्र ही सरकार छठा वेतनमान देगी। इसके लिए प्रक्रिया चल रही है। गुरुवार को मानव संसाधन विकास विभाग के मंत्री हरिनारायण सिंह ने बिहार माध्यमिक शिक्षक संघ के प्रतिनिधियों को यह आश्वासन दिया। मंत्री से मिलने गए संघ के अध्यक्ष शत्रुघ्न प्रसाद सिंह, महासचिव केदारनाथ पांडेय, प्राथमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष ब्रजनंदन शर्मा और महासचिव महेन्द्र प्रसाद शाही ने संघ की लम्बे अर्से से लम्बित मांगों पर चर्चा की। संघ की ओर से दस सूत्री मांगें भी मंत्री को सौंपी गयी। वार्ता के बाबत मंत्री ने बताया कि संघ के वाजिब मांगों के हक में सरकार है जबकि जो मांगें असंभव हैं उन पर सरकार का रुख भी स्पष्ट है। उन्होंने कहा कि नवनियोजित शिक्षकों के चिकित्सका भत्ता और अवकाश देने पर सरकार विचार करेगी। हालांकि उनका वेतनमान और स्थानांतरण संभव नहीं है। शिक्षक नियमावली में संशोधन का सरकार का कोई इरादा नहीं है। संघ के प्रतिनिधिमंडल को मंत्री ने बताया कि अप्रैल के अंत तक माध्यमिक विद्यालयों में प्रधानाध्यापकों के रिक्त पदों में आधे पद प्रोन्नति से भर लिए जाएंगे। शेष 925 पदों के लिए कमीशन द्वारा सीधी नियुक्ति की प्रक्रिया भी शुरू कर दी जाएगी। इसमें फिलहाल कुछ त्रुटि रह गई है जिसे 20 अप्रैल त दुरुस्त कर लिया जाएगा। 15 अप्रैल तक प्रधानाध्यापकों की औपबंधिक वरीयता सूची बना लिया जाएगा। श्री सिंह ने कहा कि प्राथमिक एवं मध्य विद्यालयों में भी प्रधानाध्यापकों के रिक्त पद जल्द भरे जाएंगी। मंत्री ने संघ की उस मांग को ठुकरा दिया जिसमें शारीरिक प्रशिक्षित शिक्षकों को प्रधानाचार्य बनाने का प्रस्ताव किया गया था। उन्होंने साफ किया कि सरकार अपने रुख पर कायम है कि नियमित शिक्षकों के सेवानिवृत्त होने पर वह पद समाप्त हो जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अल्पसंख्यक विद्यालयों के शिक्षक-कर्मियों को छठा वेतन शीघ्र माध्यमिक शिक्षक संघ