DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारतीय मूर्तिकार का टॉवर को ओलंपिक पार्क में मिला स्थान

टावर का नाम रखा गया है ‘आर्सेलर मित्तल ऑर्बिट’ लंदन के बिग बेन और न्यूयार्क के स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी से भी ऊंचा है यह टावर1.91 करोड़ पाउंड की लागत वाले इस टावर को बनाने में लगेगा 1,400 टन इस्पात नवंबर 2011 में पूरा हो जाएगा निर्माण कार्यइस्पात उद्योगपति लक्ष्मी मित्तल इस परियोजना के लिए देंगे 1.6 करोड़ पाउंडआईएएनएसलंदन। भारतीय मूर्तिकार अनीश कपूर द्वारा डिजाइन किए हुए 115 मीटर ऊंचे इस्पात टॉवर का लंदन के 2012 के ओलंपिक खेल स्टेडियम में निर्माण होगा। पेरिस के एफिल टॉवर से इसकी तुलना की जा रही है।कम्प्यूटर पर तैयार किए गए टॉवर के इस मॉडल को बुधवार को यहां ओलंपिक पार्क की कलात्मक केंद्रीय वस्तु के रूप में चुना गया। इस टॉवर को दुनिया की प्रसिद्ध स्थापत्य कलाओं, लंदन के बिग बेन और न्यूयार्क के स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी से भी ऊंचा माना जा रहा है।इस टॉवर को ‘आर्सेलर मित्तल ऑर्बिट’ नाम दिया गया है और 1.91 करोड़ पाउंड के इस निर्माण के लिए 1,400 टन इस्पात की जरूरत होगी। नवंबर 2011 में इसका निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा। भारतीय इस्पात उद्योगपति लक्ष्मी मित्तल इस परियोजना के लिए 1.6 करोड़ पाउंड देंगे। समाचार पत्र ‘द गार्जियन’ के मुताबिक शेष राशि ‘ग्रेटर लंदन अथॉरिटी’ की ओर से दी जाएगी।‘टर्नर प्राइज’ विजेता कलाकार अनीश कपूर और संरचनात्मक इंजीनियर सेसिल बाल्मोंड ने इसे डिजाइन किया है। इस टॉवर के लंदन में पर्यटकों के लिए विशेष आकर्षण का केंद्र बनने की संभावना है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भारतीय मूर्तिकार का टॉवर को ओलंपिक पार्क में मिला स्थान