सबौर में कृषि विवि के लिए चलते सत्र में - सबौर में कृषि विवि के लिए चलते सत्र में DA Image
12 नबम्बर, 2019|1:26|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सबौर में कृषि विवि के लिए चलते सत्र में

पटना(हि.ब्यू.)। राज्य का दूसरा कृषि विश्वविद्यालय भागलपुर के सबौर में खोला जाएगा। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुरुवार को विधान परिषद में यह घोषणा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि राजेन्द्र कृषि विश्वविद्यालय को केन्द्रीय कृषि विश्वविद्यालय बनाने की राज्य सरकार की मांग को केन्द्र ने सैद्धांतिक रूप से स्वीकार कर लिया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सबौर में नया कृषि विश्वविद्यालय बनाने का प्रस्ताव है। सरकार की कोशिश है कि चलते सत्र में इसके लिए प्रस्ताव लाया जाए। इसके पहले बालेश्वर सिंह भारती ने ध्यानाकर्षण के जरिए मधुबनी में कृषि महाविद्यालय खोलने का मुद्दा उठाया था। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने इसके लिए उन्हें आश्वासन दिया था। इसपर मुख्यमंत्री ने कहा कि मैंने कब कहा है कि मधुबनी में कृषि महाविद्यालय खोलेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि कृषि महाविद्यालय सामान्य महाविद्यालयों की तरह नहीं होते हैं। वहां अलग तरह से काम होता है। मुख्यमंत्री ने यह भी स्पष्ट किया कि जिलावार कृषि महाविद्यालय खोलने का कोई प्रस्ताव नहीं है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार की योजना है के तहत सभी जिलों में कृषि विज्ञान केन्द्र खोले गए हैं। राज्य में किसानों के परामर्श के लिए पहले से बेहतर स्थिति है। इसके पहले कृषि मंत्री रेणु कुमारी ने कहा कि राज्य को कृषि जलवायवीय दृष्टि से चार भागों में बांटा गया है। इनमें से कृषि जलवायुवीय क्षेत्र-1 के अधीन ढ़ाेली मुजफ्फरपुर में एक कृषि महाविद्यालय है। इसी क्षेत्र के अधीन मधुबनी जिला आता है। क्षेत्र-2 के अधीन अगवानपुर, सहरसा में कृषि महाविद्यालय है। क्षेत्र-3 ए में सबौर, भागलपुर में कृषि महाविद्यालय है। जलवायवीय क्षेत्र-3 बी के अधीन डुमरांव, बक्सर में कृषि महाविद्यालय की स्थापना का निर्णय लिया गया है। पूर्णिया में कृषि महाविद्यालय की स्थापना सरकार के विचाराधीन है। मधुबनी में कृषि महाविद्यालय की स्थापना का कोई प्रस्ताव विचाराधीन नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सबौर में कृषि विवि के लिए चलते सत्र में