पैसे के अभाव और सरकारी उदासीनता की वजह सरोज का - पैसे के अभाव और सरकारी उदासीनता की वजह सरोज का DA Image
9 दिसंबर, 2019|9:26|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पैसे के अभाव और सरकारी उदासीनता की वजह सरोज का

तीन माह से भर्ती है पीएमसीएच में मां ने लगायी सरकार से गुहारसंवाद सूत्रपटना। घोसी प्रखंड के सैदपुर की रहने वाली ग्यारह वर्षीय सरोज कुमारी का पैसा के अभाव में इलाज नहीं हो पा रहा है। सरोज 24 अक्टूबर माह में अपने घर में जल गई थी। उसका शरीर 40 फीसदी जल गया था। सरोज की मां यशोदा देवी विधवा है। किसी तरह से इसका इलाज पीएमसीएच में चल रहा है। सरोज की मां बताती हैं कि घोसी के प्रखंड विकास पदाधिकारी ने सैकड़ाें लोगों के सामने मदद करने की बात कही पर आज तक एक रुपया भी सरकारी मदद नहीं की। वहां के जिलाधिकारी से भी गुहार लगायी पर नतीजा सिफर ही रहा। सरोज तीन माह से पीएमसीएच में भर्ती है। एक गैर सरकारी संस्था की ओर से उसे कुछ मदद की जा रही है। यह बच्चाी अतिपिछड़ी जाति (बेलदार) से आती है। मां बताती है कि पीएमसीएच प्रशासन की ओर से भी दवा मुहैया नहीं कराया जा रहा है। सरकारी उदासीनता की वजह से इसका इलाज संभव नहीं हो पा रहा है। सरोज के इलाज के लिए मुख्यमंत्री सचिवालय में 14 जनवरी को आवेदन दिया गया था। इसके बाद अभी तक कोई सरकारी सहायता नहीं मिल सकी है। यशोदा देवी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से अपने बेटी सरोज कुमारी के इलाज के लिए गुहार लगायी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पैसे के अभाव और सरकारी उदासीनता की वजह सरोज का