विरासत में मिली 15 मेगावाट बिजली, एनटीपीसी की धमकी प्रखंडस्तर पर - विरासत में मिली 15 मेगावाट बिजली, एनटीपीसी की धमकी प्रखंडस्तर पर DA Image
18 नबम्बर, 2019|3:44|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विरासत में मिली 15 मेगावाट बिजली, एनटीपीसी की धमकी प्रखंडस्तर पर

पटना (हि.ब्यू.)। बिहार को विरासत में मिली थी 15 मेगावाट बिजली उत्पादन की क्षमता, 450 करोड़ रुपए का बिजली शुल्क का बकाया और एनटीपीसी की बिजली काटने की धमकी। प्रभारी मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि वहां से शुरूआत कर नीतीश-मोदी की सरकार ने अगले पांच वर्षो में आत्मनिर्भर होने की क्षमता पाने की राह पर बढ़ गई है। हमने शून्य से यहां तक का सफर पूरा किया है। विधानपरिषद में ऊर्जा विभाग का बजट पेश करते हुए मंत्री ने कहा कि पिछली सरकार ने जिस कांटी बिजलीघर को खत्म कर दिया था और बरौनी बिजलीघर को मरणासन्न स्थिति में पहुंचा दिया, अब उसका आधुनिकीकरण हो रहा है। फिलहाल वहां से 150 मेगावाट बिजली मिल रही है। बीते शासन के जर्जर सिस्टम को दुरुस्त करने के लिए 78 हजार किलोमीटर तार बदलने की योजना स्वीकृत की गई है जबकि दस हजार से अधिक जले ट्रांसफार्मर बदले गए हैं। पहले एनटीपीसी हर रोज बकाये के भुगतान को लेकर बिहार की बिजली काटने की धमकी देता था। नीतीश सरकार ने उसका 450 करोड़ रुपए का एकमुश्त भुगतान किया। महज चार वर्षो में दस लाख से अधिक नए उपभोक्ता बनाए गए। आपदा प्रबंधन मंत्री देवेश चन्द्र ठाकुर ने प्रखंडस्तर पर आपदा प्रबंधन प्राधिकार बनाने की घोषणा की और कहा कि हर प्रखंड में फायर स्टेशन भी खोले जाएंगे। राज्य सरकार वज्रपात के मामले में भी मुआवजा देगी। उन्होंने जून के पूर्व बाढ़ प्रभावित 28 जिलों में 100 लाइफ जैकेट और मोटरबोट उपलब्ध कराने का दावा किया और कहा कि बाढ़ आने के पूर्व उससे लड़ने की मुकम्मल तैयारी पूरी हो जाएगी। उन्होंने बताया कि बिहार पुलिस, होमगार्ड और एनजीओ प्रतिनिधियों को गोताखोरी का प्रशिक्षण दिया जाएगा। बहस में प्रो. अरुण कुमार, संजय प्रसाद, रोमा भारती, राजू यादव ने भी हिस्सा लिया।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: विरासत में मिली 15 मेगावाट बिजली, एनटीपीसी की धमकी प्रखंडस्तर पर