अबकी छुट्टियों में चलेगा विज्ञान का जादू आंचलिक विज्ञान नगरी में - अबकी छुट्टियों में चलेगा विज्ञान का जादू आंचलिक विज्ञान नगरी में DA Image
19 नबम्बर, 2019|11:46|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अबकी छुट्टियों में चलेगा विज्ञान का जादू आंचलिक विज्ञान नगरी में

राजीव जोशी लखनऊ । टीवी पर पीसी सरकार का जादू सबने देखा होगा। कैसे हाथ लहराते ही रुमाल फूल में बदल जाता है। और तब आपका बेटा कहता है कि पापा मुङो भी ऐसा करना है। अब आप अपने बेटे की ऐसी इच्छाओं को पूरा कर सकते हैं। अब वह भी हाथ हवा में घुमाएगा और माहौल में मधुर सुर लहरियाँ गूँज उठेंगी। वह इशारा करेगा और कम्प्यूटर के पन्ने खुद पलटने लगेंगे। इस बार गर्मियों में वर्चुअल वर्ल्ड आपके बच्चों का खासा मनोरंजन करने को तैयार है। आंचलिक विज्ञान नगरी बच्चों के लिए वर्चुअल गेम्स (एक्जीबिट) लेकर आया है। प्रदेश में इस अनोखे खेल से बच्चों को रूबरू कराने का काम अप्रैल से शुरू हो जाएगा। लाखों रुपए की यह परियोजना प्रदेश में अनूठी है। आंचलिक विज्ञान नगरी के समन्वयक एस. कुमार के अनुसार वाई फाई खेलों की श्रंखला की यह पहली कड़ी है। इसके जरिए हम बच्चों को यह बताने की कोशिश कर रहे हैं कि विज्ञान भी मनोरंजक है। उन्होंने कहा कि लोगों के लिए यह कौतूहल की बात होती है कि धरती से हमें चाँद का एक ही चेहरा दिखाई देता है। इसके दूसरी तरफ क्या है। इसे बताने की विशेष व्यवस्था की जा रही है। इसे विज्ञान के सिद्धांत के द्वारा भी समझाया जाएगा। यानी इस बार बहुत कुछ है गर्मियों की छुट्टियों में। तो देर किस बात की है, खत्म करिए परीक्षाएँ और पहुँच जाइए वर्चुअल गेम्स खेलने।.............ऐसे काम करते हैं वर्चुअल गेमयह गेम पूरी तरह सेंसर पर आधारित हैं। इसमें कंप्यूटर के ऊपर कैमरा और सेंसर लगा होता है। एक खास स्थिति में खड़ा होने पर कैमरा आपकी पिक्चर और मूवमेंट को कैप्चर कर लेता है। कंप्यूटर, सॉफ्टवेयर पर आपकी पिक्चर को प्रोसेस कर वाद्ययंत्रों पर सेट करेगा। इसके बाद वातावरण में स्वर लहरियाँ गूँजने लगेंगी।.................कई तरह के हैं वर्चुअल गेमवर्चुअल गेम कई तरह के होते हैं। वर्चुअल एक्वेरियम में लगेगा कि आप एक्वेरियम के अंदर हैं और आपके अगल बगल से मछलियाँ व दूसरे समुद्री जीव गुजर जाएँगे। वर्चुअल क्रोमा में देखने वाले को लगेगा कि आपकी गर्दन कट गई है फिर भी आप चल रहे हैं। कारपेट पर बैठकर उड़ भी सकते हैं।.............बहुत महँगे हैं ये गेमयह गेम बहुत महँगे हैं। इन्हें घर लगवाना आसान नहीं है। इनमें कंप्यूटर, कैमरे, सेंसर और सॉफ्टवेयर का खर्च ही करीब 20 लाख के ऊपर बैठता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अबकी छुट्टियों में चलेगा विज्ञान का जादू आंचलिक विज्ञान नगरी में