संपत्ति अधिकार को लेकर अस्टेट ऑफिस की राहत - संपत्ति अधिकार को लेकर अस्टेट ऑफिस की राहत DA Image
14 नबम्बर, 2019|6:10|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संपत्ति अधिकार को लेकर अस्टेट ऑफिस की राहत

चंडीगढ़।अब तक ऑक्यूपेशन सर्टिफिकेट न होने के चलते प्रॉपर्टी ट्रांसफर में परेशानी ङोल रहे शहरवासियों के लिए राहत की खबर है। चंडीगढ़ अस्टेट ऑफिस ने उन सभी लोगों को नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट जारी करने का निर्णय लिया है, जिनके पास कंपलीशन/ऑक्यूपेशन सर्टिफिकेट नहीं है। इससे पहले अभी तक बिना सर्टिफिकेट के नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट जारी नहीं हो पाता था। इसके चलते बड़ी संख्या में लोगों को अस्टेट ऑफिस के चक्कर काटने पड़ रहे थे।अस्टेट ऑफिस की तरफ से जारी किया गया यह आदेश इस महीने की 12 तारीख से प्रभावी माना जाएगा। यह आदेश 28 मई 2001 को जारी किए गए आर्डर को ध्यान में रखकर किया गया है। आदेश में कहा गया है कि उन सभी मामलों में नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट जारी किए जाएंगे, जिनका निर्माण कार्य पहले मुकम्मल हो चुका है और अब तक उनके पास आक्यूपेशन सर्टिफिकेट नहीं है। अस्टेट ऑफिस अधिकारियों के मुताबिक नो ऑब्जेक्शन सर्टिफिकेट से पहले आवेदक को इस बात के प्रति आश्वस्त करना होगा कि जगह पर करवाया गया निर्माण बिल्डिंग प्लान के मुताबिक है और यहां पर कोई वॉयलेशन नहीं हुई है। आवेदक को इसके लिए 22 जनवरी 1993 की सीवरेज कनेक्शन की कॉपी या बिजली/पानी का मंजूरी पत्र साथ लाना होगा। अगर अलॉटमेंट 22 जनवरी 1993 के बाद की है तो आवेदक को एक्सटेंशन लेटर की कॉपी लानी होगी या फिर अंतिम जमा करवाया गया बिजली व पानी का बिल देना होगा। साथ ही, रजिस्टर्ड आर्किटेक्ट से सत्यापित सर्टिफिकेट जमा करवाना होगा, जिसमें यह बताया गया हो कि जो भी निर्माण किया गया है, वह मंजूर बिल्डिंग प्लान के मुताबिक हुआ है और जगह पर किसी प्रकार की कोई वॉयलेशन नहीं हुई है। अस्टेट ऑफिस की तरफ से जारी किए गए इस आदेश से बड़ी तदाद में लोगों को राहत मिलेगी। शहरवासियों के मुताबिक अस्टेट ऑफिस की तरफ से की गई यह पहल सराहनीय है। अस्टेट ऑफिस को ऐसी ही पीपुल फ्रेंडली पॉलिसी पर काम करना चाहिए ताकि शहर के बाशिंदों को सरकारी कार्यालयों के चक्कर न काटने पड़ें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: संपत्ति अधिकार को लेकर अस्टेट ऑफिस की राहत