प्रीति जिंटा और किंग्स इलेवन को नोटिस - प्रीति जिंटा और किंग्स इलेवन को नोटिस DA Image
11 दिसंबर, 2019|9:06|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रीति जिंटा और किंग्स इलेवन को नोटिस

चंडीगढ़। किंग्स इलेवन की सह मालकिन प्रीति जिंटा और टीम प्रबंधकों को चंडीगढ़ जिला अदालत ने नोटिस जारी किया है। शहीद भगत सिंह के भतीजे द्वारा दायर याचिका में उठाए गए सवालों पर उनसे जवाब मांगा गया है। प्रीति समेत विपक्ष के तीन व्यक्तियों को 22 मार्च तक जवाब दायर करने को कहा गया है।शहीद भगत सिंह के भतीजे अभय सिंह संधू ने सोमवार को चंडीगढ़ की जिला अदालत में याचिका दायर करके टीम प्रबंधकों पर पक्के तौर पर रोक लगाने की मांग की थी कि वे टीम के प्रचार के लिए शहीदों के नाम को इस्तेमाल न करें। संधु समेत ग्लोबल ह्यूमन राईट्स कौंसिल के चेयरपर्सन अरविंद ठाकुर और विश्व हिंदु परिषद प्रवक्ता विजय सिंह भारद्वाज ने जिला अदालत में यह सिविल सूट दायर की थी। उन्होंने किंग्स इलेवन पंजाब के सीनियर वाइस प्रेजिडेंट, मालिक नेस वाडिया और सह मालकिन प्रीति जिंटा को पार्टी बनाते हुए अदालत के समक्ष तथ्य पेश किए थे कि आईपीएल के मैच के लिए किंग्स इलेवन के प्रबंधकों ने टिकटों की अधिक बिक्री के लिए शहीद भगत सिंह, राज गुरू और सुखदेव समेत चंद्र शेखर आजाद के नाम का सहारा लिया है। यही नहीं यह प्रचार भी किया है कि मैच के दौरान स्टेडियम में उक्त शहीदों के क्लोन और कार्टूनों के जरिए दर्शकों का स्वागत किया जाएगा।इस याचिका पर मंगलवार को एडिशनल चीफ जुडीशियल मजिस्ट्रेट अंशुर बेरी की अदालत में सुनवाई हुई। अदालत ने याचिका पर संज्ञान लेते हुए विपक्ष को नोटिस जारी करके जवाब दायर करने को कहा है। उल्लेखनीय है कि याचिककर्ताओं ने अदालत से गुहार लगाई है कि शहीदों का अपमान नहीं किया जा सकता। किंग्स इलेवन ने उनके नाम का इस्तेमाल किया है, इसके चलते याचिकाकर्ताओं की भावनाओं को धक्का लगा है। याचिकाकर्ताओं ने अदालत से कहा है कि अखबारों में विज्ञापन के जरिए भी प्रचार किया गया और यह अखबार जिला अदालत परिसर में भी पढ़े गए, इसलिए यहां भी जुरिडिक्शन बनती है। याचिकाकर्ताओं ने यह भी अदालत के समक्ष तथ्य पेश किया कि शहीदों के नाम के इस प्रकार से इस्तेमाल किए जाने को लेकर कुछ संस्थाओं ने चंडीगढ़ में प्रदर्शन भी किया। याचिकाकर्ताओं ने अदालत से मांग की है कि इस मामले का संज्ञान लेते हुए विपक्ष पर नियमित प्रतिबंध लगाया जाए कि वह इस तरह के प्रचार के लिए शहीदों के नाम का इस्तेमाल कभी नहीं करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: प्रीति जिंटा और किंग्स इलेवन को नोटिस