रतजगा के बाद भी नहीं पूरी हुई नए प्रदेश अध्यक्ष - रतजगा के बाद भी नहीं पूरी हुई नए प्रदेश अध्यक्ष DA Image
17 नबम्बर, 2019|12:31|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रतजगा के बाद भी नहीं पूरी हुई नए प्रदेश अध्यक्ष

पटना(हि.ब्यू.)। गडकरी की नई टीम की घोषणा तो हो गई, लेकिन बिहार के लिए पार्टी अब तक नए प्रदेश अध्यक्ष की खोज नहीं कर पाई है। राष्ट्रीय अध्यक्ष नितिन गडकरी के साथ रतजगा करने के बाद भी किसी एक नाम पर सहमति नहीं बन पाई। इसके पीछे पार्टी के कुछ वरिष्ठ नेताओं की खेमेबंदी का ही नतीजा माना जा रहा है। ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि 18 मार्च के कार्यकर्ता सम्मेलन में नए अध्यक्ष की ताजपोशी न हो पाए।पटना में बैठी कोर कमिटी जब कोई नाम तय न कर सकी तो दिल्ली में नेता बैठे। सोमवार रात डेढ़ बजे तक कोर कमेटी में शामिल नेता गडकरी के साथ बैठे रहे, लेकिन किसी नाम पर सहमति नहीं बन पाई। बताते हैं कि सुशील कुमार मोदी खेमा जिस व्यक्ति को अध्यक्ष बनाना चाहता है उसपर अश्विनी चौबे का विरोध है। लेकिन पार्टी बिहार में ऐसे व्यक्ति को अध्यक्ष बनाना चाहती है जो जदयू के साथ गठबंधन धर्म भी निभाए। सहमति बनाने की कोशिश हुई। राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कोर कमेटी के नेताओं के साथ अलग-अलग भी बात की, लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला। अब तक की तैयारियों के अनुसार 18 मार्च के प्रदेश कार्यकर्ता सम्मेलन में ही नए अध्यक्ष के नाम की घोषणा होनी थी। लेकिन अब इसकी उम्मीद कम ही दिखती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: रतजगा के बाद भी नहीं पूरी हुई नए प्रदेश अध्यक्ष