थप्पड मारना और कैश-मोबाइल लूट लेना फर्जी निकला 3.5 लाख नकद - थप्पड मारना और कैश-मोबाइल लूट लेना फर्जी निकला 3.5 लाख नकद DA Image
19 नबम्बर, 2019|10:43|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

थप्पड मारना और कैश-मोबाइल लूट लेना फर्जी निकला 3.5 लाख नकद

वरीय संवाददातापटना। कदमकुआं थानांतर्गत काजीपुर इलाके में पिछले 18 फरवरी को हुई साढ़े तीन लाख रुपये की लूट का मामला फर्जी निकला। पीडिम्त आनंद कुमार ही लूटपाट का ‘मास्टर माइंड’ निकला। उसने अपने भाईयों के साथ मिल कर लूट की साजिश रची थी। आनंद की लूटी गई मोबाइल उसी के पास से पुलिस ने बरामद की है। सोमवार को शातिर आनंदको गिरफ्तार कर पुलिस ने नकद बरामद करने के प्रयास तेज कर दिये हैं। हाजीपुर (वैशाली) निवासी आनंद कुमार बहादुरपुर बाजार समिति में स्थित प्राइवेट ‘एसकेएस फाइनेंस कंपनी’ में करीब छह महीने से कार्यरत है। उसका काम लोगों तक लोन के रूपये पहुंचाना है। उसने अपने भाईयों के साथ मिल कर लूटपाट की पटकथा तैयार की थी। इसके तहत उसने अपने तीन भाईयों अजीत, जितेन्द्र और मनीष से कहा कि ‘वह मोटी रकम लेकर जायेगा। इसी दौरान काजीपुर में रोक कर मुङो थप्पड़ मारना और कैश के साथ ही मेरी मोबाइल लूट कर चंपत हो जाना।’ हालांकि घटना के बाद आनंद के विरोधाभासी बयानों से पुलिस को आशंका हुई। कभी वह पिस्तौल भिड़ा कर अराधियों द्वारा लूटे जाने की बात कहता तो कभी रूमाल ओढा कर। तफ्तीश के क्रम में उसके मोबाइल का पता चलते ही कदमकुआं थानाध्यक्ष मुंद्रिका प्रसाद ने दल-बल के साथ छापेमारी करते हुए आनंद को अपनी गिरफ्त में ले लिया। इसके बाद पूछताछ में उसने अपना गुनाह कबूलते हुए असलियत बयां कर दी। लूटपाट में शामिल अन्य आरोपित घर छोड़ कर फरार हैं जिनकी तलाश में पुलिस ने दबिश बढ़ा दी है। बकौल थानाध्यक्ष ‘इसी स्टाइल में उसने पहले भी फर्जीवाडा किया है। पूर्व में उसने मोतिहारी की भी एक फाइनेंस कंपनी में काम करते हुए ऐसी ही घटना को अंजाम दिया था। बहहाल उसके अतीत के बाबत पुलिस गहराई से पड़ताल कर रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: थप्पड मारना और कैश-मोबाइल लूट लेना फर्जी निकला 3.5 लाख नकद