मात्र 194 स्वयं सहायता समूह जुड़े आर्थिक क्रियाकलाप से - मात्र 194 स्वयं सहायता समूह जुड़े आर्थिक क्रियाकलाप से DA Image
11 दिसंबर, 2019|2:19|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मात्र 194 स्वयं सहायता समूह जुड़े आर्थिक क्रियाकलाप से

वरीय संवाददातापटना। जिले में वित्तीय वर्ष 2009-10 के नौ महीने में मात्र 194 स्वयं सहायता समूहों को आर्थिक क्रियाकलाप से जोड़ा गया है। हालांकि इस साल कुल 1152 स्वयं सहायता समूहों का गठन किया गया है। दूसरी ओर इसी वित्तीय वर्ष में 349 महिला समूहों का गठन किया गया है, जिसमें से 64 समूहों को आर्थिक मदद उपलब्ध करायी गयी है। जिलमें इस योजना के तहत मदद और कर्ज उपलब्ध कराकर कितने लोगों को गरीबी रेखा से ऊपर उठाया गया है। इसका सर्वे कराया जा रहा है। सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी और महिला प्रसार पदाधिकारी को ऐसे परिवारों के सर्वे का निर्देश दिया गया है। स्वर्णजयंती स्वरोजगार योजना के जरिए लोगों को कितना फायदा पहुंच रहा है, इसका फीडबैक लेने के लिए सर्वे कराया जा रहा है। स्वर्णजयंती स्वरोजगार योजना 1999 में शुरू की गई और अभी तक जिले में कुल 9075 स्वयं सहायता समूहों का गठन हुआ है। जिसमें से 1948 एसएसजी काम नहीं कर रहे हैं। जबकि इसी दौरान 3330 महिला स्वयं सहायता समूहों का गठन किया गया है। इन स्वयं सहायता समूहों को 6.96 करोड़ रुपए की आर्थिक मदद दी गई है, जिसमें सब्सिडी का हिस्सा 2.80 करोड़ रुपए है। इसके अलावा स्वरोजगार करने वालों को 23.5 करोड़ की आर्थिक मदद की दी गई है, जिसमें 9.35 करोड़ रुपए सब्सिडी के रूप में दिए गए। दूसरी ओर बैंकों के असहयोगात्मक रवैए के कारण स्वयं सहायता समूहों को आर्थिक मदद उपलब्ध कराने में काफी दिक्कत आ रही है। जिलाधिकारी जितेन्द्र कुमार सिन्हा ने कहा कि बैंकरों के साथ हुई जिलास्तरीय बैठक में लीड बैंक समेत अन्य बैंकों के पदाधिकारियों को स्वयं सहायता समूहों को कर्ज उपलब्ध कराने में तेजी लाने का निर्देश दिया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मात्र 194 स्वयं सहायता समूह जुड़े आर्थिक क्रियाकलाप से