DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शोले के रीमेक के पक्ष में नहीं हैं जावेद अख्तर

बॉलीवुड में गुजरे दौर की हिट फिल्मों की लोकप्रियता को किसी तरह भुनाने का शगल भले ही जोर पकड़ रहा हो लेकिन मशहूर गीतकार और पटकथा लेखक जावेद अख्तर हिन्दी सिनेमा के ब्लॉकबस्टर शाहकार शोले का रीमेक बनाए जाने के पक्ष में कतई नहीं हैं।

फिल्म शोले (1975) की पटकथा लिखने वाली जोड़ी सलीम-जावेद में शामिल कलमकार ने एक कार्यक्रम के दौरान श्रोताओं से बातचीत के दौरान कहा कि मैं फिल्मों का रीमेक बनाए जाने के खिलाफ नहीं हूं। लेकिन मैं नई पीढ़ी को यह सुझाव नहीं दूंगा कि वह शोले का रीमेक बनाए। यह अपने वक्त की सबसे मशहूर फिल्म है और इसकी प्रसिद्धि आज भी कम नहीं हुई है।

उन्होंने पूछा कि क्या कोई गांधी और गॉडफादर जैसी फिल्में दोबारा बना सकता है। अख्तर ने सुझाया कि रीमेक के लिए उन फिल्मों का चुनाव किया जाना चाहिये, जो तकनीकी और आर्थिक दिक्कतों के कारण अधूरी ही रह गईं, जबकि उनकी कहानियां मौजूदा दौर में उतनी ही प्रासंगिक बनी हुई हैं। 

बॉलीवुड महानायक अमिताभ बच्चन की मुख्य भूमिका वाली मशहूर हिन्दी फिल्म जंजीर (1973) के प्रस्तावित रीमेक के सवाल पर उन्होंने कहा कि इस बॉलीवुड शाहकार का रीमेक बनाने के अधिकार फिलहाल किसी को नहीं दिए गए हैं।

जंजीर की पटकथा भी सलीम-जावेद ने ही लिखी है। सलीम के बेटे और बॉलीवुड स्टार सलमान खान ने हाल ही में कहा है कि वह 70 के दशक की इस हिट एक्शन फिल्म का रीमेक बनाए जाने के पक्ष में हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शोले के रीमेक के पक्ष में नहीं हैं जावेद अख्तर