DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

युवा मुक्केबाज शिव को मिला ओलंपिक टिकट

शिव थापा (56 किग्रा) बुधवार को ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाले सबसे युवा भारतीय मुक्केबाज बन गए लेकिन पहले ही लंदन का टिकट बुक कर चुके विजेंदर सिंह (75 किग्रा) कजाखस्तान के अस्ताना में चल रहे एशियाई क्वालीफायर्स के सेमीफाइनल में हार गए।

अठारह वर्षीय शिव ने जापान के सातोशी सिमिजु को 31-17 से हराकर फाइनल में पहुंचने के साथ ही लंदन ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया। राष्ट्रीय कोच गुरबख्श सिंह संधू ने कहा कि उसने बेहतरीन प्रदर्शन किया। वह पहले राउंड में अधिक आक्रामक होने के कारण एक अंक से पिछड़ रहा था लेकिन उसने धैर्य बनाए रखा और अगले दो राउंड में बेहतरीन प्रदर्शन करके बड़े अंतर से जीत दर्ज की। उसने अधिकतर अंक दाएं हाथ के सीधे पंच से बनाए।

पिछले साल 19 वर्षीय एल देवेंद्रो सिंह ने विश्व चैंपियनशिप के जरियर लंदन के लिए क्वालीफाई किया था। उनके अलावा देबेंद्र सिंह ने 1996 में 19 साल की उम्र में अटलांटा ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया था। वे अब तक सबसे कम उम्र में ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाले मुक्केबाज थे लेकिन 1993 में जन्में शिव थापा ने उनका रिकार्ड तोड़ दिया।
असम का यह किशोर मुक्केबाज पहले राउंड में 6-7 से पीछे चल रहा था। लेकिन दूसरे राउंड में उन्होंने 15-6 की बढ़त हासिल कर ली। आखिरी तीन मिनट में भी यही कहानी दोहरायी गई और शिवा आसानी से जीत गए।

ओलंपिक और विश्व चैंपियनशिप के कांस्य पदक विजेता विजेंदर को हालांकि सेमीफाइनल में युवा ओलंपिक के कांस्य पदक विजेता नुरसात पाजियेव से 10-7 से हार का सामना करना पड़ा। विजेंदर सेमीफाइनल में पहुंचकर पहले ही ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर चुके हैं।

विजेंदर पहले राउंड में 2-3 से पीछे चल रहे थे। उन्नीस वर्षीय पाजियेव ने पहले अपना बचाव किया। वह विजेंदर के आक्रमण का इंतजार करता रहा और फिर जवाबी हमला करता। उसने दूसरे राउंड के बाद बढ़त 6-4 कर दी। विजेंदर आखिरी तीन मिनट में प्रतिबद्ध दिखा लेकिन पाजियेव ने उन्हें वापसी का कोई मौका नहीं दिया।

चार भारतीय मुक्केबाज एल देवेंद्रो सिंह (49 किग्रा), जय भगवान (60 किग्रा), मनोज कुमार (64 किग्रा) और विकास कृष्णन (69 किग्रा) पिछले साल ही विश्व चैंपियनशिप के जरिए ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर चुके हैं।

भारत के लिए एक निराशाजनक परिणाम एशियाई खेलों के रजत पदक विजेता मनप्रीत सिंह (91 किग्रा) की हार से मिला। मनप्रीत सेमीफाइनल में ईरान के अली मजहरि से 6-13 से हार गए और इस तरह से ओलंपिक के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाए।

मनप्रीत को लंदन ओलंपिक में जगह बनाने के लिए स्वर्ण पदक जीतने की जरूरत थी। यह 23 वर्षीय मुक्केबाज पहले राउंड के बाद 3-2 से आगे थे लेकिन दूसरा राउंड 2-5 से हार गया। आखिरी राउंड में ईरानी मुक्केबाज अधिक आक्रामक हो गया और उसने मनप्रीत को 6-1 से हराकर फाइनल में जगह बनाई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:युवा मुक्केबाज शिव को मिला ओलंपिक टिकट