DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कड़ी मेहनत और अनुशासन से मिली सफलता: साइना

स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी साइना नेहवाल ने कहा कि वह आज जिस मुकाम पर खड़ी हैं वहां तक कड़ी मेहनत और अनुशासन के बलबूते पर पहुंची। साइना से पूछा गया कि वह दो चीजें कौन सी हैं जिनसे वह खास बनी, उन्होंने कहा कड़ी मेहनत और अनुशासन।

रियो डि जनेरियो में 2016 में होने वाले ओलंपिक में अभी लंबा समय है लेकिन साइना का मानना है कि डेनमार्क की जीत उनके लिए अच्छे संकेत है। जब उनके साथी ओलंपिक पदक विजेता गगन नारंग ने पूछा कि वह खेल परिदृश्य में किस तरह का बदलाव चाहती हैं, उन्होंने कहा कि मैं चाहती हूं कि खिलाड़ियों को अच्छी सुविधाएं मिलें। इससे वे बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं।  एक सवाल के जवाब में साइना ने कहा कि जब भी वह कोई टूर्नामेंट जीतती है तो आईसक्रीम खाती है क्योंकि फिटनेस बनाये रखने के लिये वह हमेशा इसे नहीं ले सकती।

नारंग ने उनसे पूछा कि युवाओं के लिए उनका संदेश क्या होगा तो उन्होंने कहा कि अपने क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए आत्मविश्वास और अनुशासन। महिलाएं किसी भी तरह से पुरुषों से कम नहीं हैं और वह जो करना चाहती हैं वह कर सकती हैं। बेंगलूर में अकादमी खोलने के सवाल पर उन्होंने कहा कि हरियाणा और कर्नाटक सरकार ने उन्हें मदद की पेशकश की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कड़ी मेहनत और अनुशासन से मिली सफलता: साइना