DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हर बड़ा मैच विदेश में खेला है तेंदुलकर ने

हर बड़ा मैच विदेश में खेला है तेंदुलकर ने

सचिन तेंदुलकर ने अपने टेस्ट करियर की शुरुआत से लेकर आज तक हर बड़ा मैच विदेशी सरजमीं पर खेला है और यदि भारतीय क्रिकेट बोर्ड के प्रयास रंग लाते हैं तो इस दिग्गज बल्लेबाज को अपना 200वां टेस्ट मैच अपनी घरेलू धरती पर खेलने का मौका मिल सकता है। बीसीसीआई ने इस साल नवंबर में वेस्टइंडीज की मेजबानी करने का कार्यक्रम बनाया है।
कैरेबियाई टीम इस दौरे में दो टेस्ट मैच खेल सकती है जिसका मतलब है कि तेंदुलकर को अपना 200वां टेस्ट मैच भारतीय सरजमीं पर खेलने का मौका मिलेगा। यदि बीसीसीआई की इस सीरीज की योजना मूर्तरूप नहीं ले पाती है तो फिर तेंदुलकर को अपने पहले, 50वें, 100वें और 150वें मैच की तरह 200वां मैच भी विदेशी सरजमीं पर खेलना होगा। भारतीय टीम को नवंबर दिसंबर में दक्षिण अफ्रीका का दौरा करना है और अभी के कार्यक्रम के हिसाब से वह वहां तीन टेस्ट मैच खेलेगी। इसके बाद भारतीय टीम को न्यूजीलैंड का दौरा करना है जहां उसे दो टेस्ट मैच खेलने हैं।

तेंदुलकर ने अपने करियर की शुरुआत 15 नवंबर, 1989 को पाकिस्तान के खिलाफ कराची में की थी। उस समय वह 16 साल, 205 दिन के थे। इस स्टार बल्लेबाज ने अपना 50वां टेस्ट मैच वेस्टइंडीज के खिलाफ 14 से 18 मार्च 1997 के बीच पोर्ट ऑफ स्पेन के क्वीन्स पार्क ओवल में खेला था। इस ड्रा मैच में वह 88 रन बनाकर रन आउट हो गए थे।

तेंदुलकर ने अगले 50 टेस्ट मैच साढ़े पांच वर्ष में खेल लिए थे। मास्टर ब्लास्टर ने टेस्ट मैचों का शतक इंग्लैंड के खिलाफ पांच से नौ सितंबर 2002 के बीच ओवल में खेले गए टेस्ट मैच में पूरा किया था। अपने इस 100वें टेस्ट में उन्होंने एंड्रयू कैडिक की गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट होने से पहले 54 रन बनाए थे।

श्रीलंका के खिलाफ आठ से 11 अगस्त 2008 को तेंदुलकर ने कोलंबो में अपना 150वां टेस्ट मैच खेला था। इस मैच में भी वह शतक जड़ने में नाकाम रहे थे। उन्होंने पहली पारी में छह और दूसरी पारी में 14 रन बनाए थे। यही नहीं तेंदुलकर इसके बाद जब सर्वाधिक टेस्ट मैच खेलने वाले क्रिकेटर बने थे तो वह मैच भी उन्होंने विदेशी धरती पर खेला था। श्रीलंका के खिलाफ अगस्त 2010 में कोलंबो में तेंदुलकर ने अपनो 169वां मैच खेलकर स्टीव वॉ के 168 टेस्ट मैच का रिकार्ड तोड़ा था।

संयोग से तेंदुलकर ने अपना पहला और 50वां टेस्ट शतक भी विदेशी सरजमीं पर लगाया था। उन्होंने पहला शतक 14 अगस्त, 1990 को इंग्लैंड के खिलाफ मैनचेस्टर में जबकि 50वां शतक दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दिसंबर 2010 को सेंचुरियन में खेला था।

यह अलग बात है कि इस दिग्गज बल्लेबाज ने अपना 5000वां, 10000वां और 15000वां रन भारतीय सरजमीं पर बनाए। दिलचस्प तथ्य यह है कि उन्होंने अपना 5000वां और 10000वां रन ऐतिहासिक ईडन गार्डन्स पर पूरे किए थे और दोनों अवसरों पर विरोधी टीम पाकिस्तान थी। तेंदुलकर ने अपना 15000वां रन वेस्टइंडीज के खिलाफ नवंबर 2011 में फिरोजशाह कोटला नई दिल्ली में बनाया था।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हर बड़ा मैच विदेश में खेला है तेंदुलकर ने