DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मैदान के बाहर भी चैम्पियन है सचिन : सास

क्रिकेट के मैदान पर अनेक इतिहास रच चुके सचिन तेंदुलकर की सास एनाबेल मेहता का कहना है कि वह मैदान के भीतर ही नहीं बल्कि बाहर भी चैम्पियन है और ऐसा दामाद पाने पर उन्हें फख्र है।
     
सचिन की पत्नी अंजलि की मां एनाबेल ने कहा कि सचिन मैदान के भीतर ही नहीं बल्कि मैदान के बाहर भी चैम्पियन है। वह बेहतरीन इंसान है और सिर्फ अपने बारे में नहीं सोचता बल्कि दूसरों की भी चिंता करता है।
   
सचिन ने 1995 में व्यवसायी आनंद मेहता और ब्रिटिश सामाजिक कार्यकर्ता एनाबेल मेहता की बेटी डॉक्टर अंजलि से विवाह किया था।
     
मुंबई में झुग्गी बस्तियों में रहने वाले बच्चों की बेहतरी के लिए काम करने वाले गैर सरकारी संगठन अपनालय से जुड़ी मेहता ने कहा बताया कि सचिन कई सामाजिक सरोकारों से जुड़े है और हर समय मदद को तत्पर रहते हैं।
     
उन्होंने कहा कि मैं अपनालय से 1972 से जुड़ी हूं। सचिन 1999 विश्वकप के दौरान अपने पिता की मत्यु के बाद इससे जुड़े। वह बच्चों के लिए कुछ करना चाहते थे चूंकि उनके पिता एक शिक्षक थे। उन्होंने अपनालय से जुड़ने की इच्छा जताई और तभी से बच्चों के प्रायोजन में आर्थिक मदद कर रहे हैं।
     
मेहता ने बताया कि इतने व्यस्त शेडयूल के बावजूद सचिन अपनालय की परियोजनाओं में रूचि लेते हैं। उन्होंने कहा कि वह खुद तो आर्थिक मदद करते ही हैं और कई बार अपने क्रिकेट के साजो सामान की नीलामी या कंपनियों के जरिये भी जरूरत होने पर हमेशा आर्थिक संसाधन जुटाने में मदद करते हैं।

मेहता ने कहा कि वह भाग्यशाली हैं कि उन्हें सचिन जैसा दामाद मिला। उन्होंने कहा कि मैं खुद को बहुत भाग्यशाली मानती हूं कि मेरी बेटी का विवाह सचिन से हुआ। उन्होंने क्रिकेट के मैदान पर कई उपलब्धियां अर्जित की है लेकिन इसके पीछे उनकी कड़ी मेहनत और समर्पण छिपा है।
     
यह पूछने पर कि क्या वह क्रिकेट की शौकीन है, उन्होंने बताया कि उनका पूरा परिवार क्रिकेट का दीवाना है।  मेहता ने कहा कि मेरे पिता क्रिकेट के शौकीन थे। फिर पति और बेटा भी क्रिकेट के दीवाने हैं और मेरा दामाद तो खुद क्रिकेटर है। मैं भी क्रिकेट देखती हूं।
     
यह पूछने पर कि क्या अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में शतकों का शतक बनाने के बाद उनकी सचिन से बात हुई, उन्होंने कहा कि सचिन के भारत लौटने पर ही इस उपलब्धि का जश्न मनाया जाएगा।
     
उन्होंने कहा कि जब वह खेलते हैं तो हमारी बात नहीं होती। जब वह लौटेंगे तब इस उपलब्धि का जश्न मनायेंगे। मेरा सारा प्यार और आशीर्वाद उनके लिए है। मैं दुआ करूंगी कि वह इसी तरह हमेशा अच्छे इंसान बने रहें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मैदान के बाहर भी चैम्पियन है सचिन : सास