DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रुपया ऐतिहासिक निचले स्तर पर

देश की मुद्रा रुपये के मूल्य में मंगलवार को भी गिरावट जारी रही। मंगलवार को रुपया एक डॉलर के मुकाबले 53.29 रुपये के ऐतिहासिक निचले स्तर पर पहुंच गया।

रुपये के अवमूल्यन से तेल का आयात और महंगा हो सकता है और तेल विपणन कम्पनियां पेट्रोल की कीमत बढ़ाने के लिए बाध्य हो सकती हैं।

अंतरबैंक विदेशी विनिमय में रुपया मंगलवार को डॉलर के मुकाबले 53.10 के स्तर पर खुला। पिछले दिन यह डॉलर के मुकाबले 52.84/85 पर बंद हुआ था।

शेयर बाजारों में गिरावट के सिलसिले के बीच विदेशी निवेशकों द्वारा की जा रही बिकवाली के कारण भी डॉलर की मांग में वृद्धि हो रही है और रुपये के मूल्य में गिरावट हो रही है।

पिछले चार महीनों में रुपये के मूल्य में 16 फीसदी की गिरावट हो चुकी है।

रुपये के मूल्य में इस गिरावट के साथ ही देश की नजरें भारतीय रिजर्व बैंक पर टिक गई हैं कि क्या वह फिर रुपये को सम्भालने के लिए बाजार में हस्तक्षेप करेगा। रिजर्व बैंक के आंकड़े के मुताबिक बैंक ने रुपये के मूल्य को सम्भालने के लिए सितम्बर और अक्टूबर में क्रमश: 84.5 करोड़ डॉलर और 94.3 करोड़ डॉलर की बिकवाली की थी।

इन दोनों ही महीनों में बैंक ने एक भी डॉलर नहीं खरीदा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रुपया ऐतिहासिक निचले स्तर पर