DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तालिबान के साथ बातचीत को तैयार श्री श्री रविशंकर

भारतीय आध्यात्मिक गुरू श्री श्री रविशंकर ने क्षेत्र में शांति लाने के लिये मंगलवार को तालिबान से बातचीत की पेशकश की।

रविशंकर ने यहां मीडिया तथा आम लोगों से बातचीत मे कहा कि मैं तालिबान से बातचीत के लिये जाने को तैयार हूं। मैं उनसे बातचीत करना चाहता हूं, उन्हें समझना चाहता हूं और उन्हें अपने विचारों से अवगत कराना चाहता हूं। हमारे मतभेद हो सकते हैं। हमें कोशिश करती रहनी चाहिये, चाहे 100 बार कोशिश क्यों न करनी पडे़।

क्षेत्र में शांति लाने के लिये नेता क्या कर सकते हैं, इस सवाल पर आध्यात्मिक गुरू ने कहा कि वाक्पटुता से अधिकांश समस्या पैदा होती है। बजाय इसके लोगों को चाहिये कि वे उम्मीद भरे भविष्य के लिये काम करें। रविशंकर इस समय तीन दिन के पाकिस्तान के दौरे पर है। उन्होंने इस्लामाबाद के बाहरी इलाके बानी गाला में आर्ट आफ लिविंग के लिये एक केन्द्र का उद्घाटन किया।

उन्होंने मुस्लिम धर्मगुरुओं के एक समूह और कुछ राजनीतिक नेताओं से भी मुलाकात की। मीडिया और जनता के सवालों के जवाब में रवि शंकर ने कहा कि नीति नियोजकों को चाहिये कि गंभीर मुद्दों से निबटते समय वे शांत एवं एकाग्रचित्त रहें। अगर वे तनाव अथवा गुस्से में होंगे तो वही उनके निर्णयों में भी झलकेगा। जब उन्हें गंभीर निर्णय लेना होता है तो उसका असर कई लोगों पर पडता है। उन्होंने कहा कि जब लोग दुसरों की मदद करते हैं तो जीवन सार्थक हो जाता है।

पाकिस्तान में आये बदलाव के बारे में उन्होंने कहा पिछली बार जब वह आये थे तो सुरक्षाकर्मियों से घिरे थे और होटल तक ही सीमित थे। इस बार मेंरी कई लोगों से मुलाकात हुई, खासकर युवाओं से। उन्होंने कहा कि भारत में कुछ सरकारी लोगों ने उनसे पाकिस्तान नहीं जाने को कहा, लेकिन वे अपने निश्चय पर कायम रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तालिबान के साथ बातचीत को तैयार श्री श्री रविशंकर