DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रिश्तों के नए युग का आगाज

टाटा समूह से झारखंड के रिश्तों को और मजबूत करने शुक्रवार को रतन टाटा झारखंड पहुंचे। उन्होंने मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा से मुलाकात की। इस मुलाकात का उद्देश्य टाटा समूह के उत्तराधिकारी साइरस मिस्त्री का मुख्यमंत्री और झारखंड से परिचय कराना भी था।

मुलाकात घंटे भर की रही और दोनों तरफ से झारखंड के विकास में साङीदार बनने का संकल्प दोहराया गया। मुख्यमंत्री के अनुरोध पर रतन टाटा ने ट्रिपल आइआइटी और नॉलेज सिटी के लिए सहयोग देने की हामी भरी है।

झारखंड को सहयोग करेगा टाटा समूह
मुलाकात के दौरान मुख्यमंत्री ने ट्रिपल आइआइटी और नॉलेज सिटी के लिए टाटा समूह से सहयोग मांगा। इस पर रतन टाटा ने कहा कि सरकार प्रस्ताव तैयार करे। उनसे जो बन पड़ेगा, वह सहयोग करेंगे। उन्होंने कहा कि झारखंड हमेशा से टाटा समूह के लिए महत्वपूर्ण रहा है। उन्होंने आधारभूत संरचना के विकास में भी सहयोग देने का वादा किया।

अलग है टाटा का वर्क कल्चर: सीएम
मुख्यमंत्री ने मुलाकात के बाद कहा : देश में कई बड़े व्यावसायिक घराने हैं। उनमें टाटा की कार्य संस्कृति अलग है। देश के विकास के लिए अलग-अलग क्षेत्रों में टाटा समूह का योगदान, बहुत महत्व रखता है। यह बहुत बड़ी बात है हम सब के लिए कि टाटा का झारखंड से इतना पुराना संबंध है। इसको और विस्तार देने की जरूरत है।

विकसित राज्य बन रहा है झारखंड : रतन
रतन टाटा ने कहा कि टाटा समूह का झारखंड से सौ वर्षो का संबंध है। उन्हें यहां आकर मुख्यमंत्री से मुलाकात कर अच्छा लगा। झारखंड विकसित राज्य बन रहा है। झारखंड के विकास में साङीदार बनने में टाटा समूह को खुशी होगी। यहां के लोगों के जीवन को सुधारने में टाटा पूरा सहयोग करेगा।

विकास में साङीदार बनेंगे : साइरस
मुख्यमंत्री से मुलाकात के बाद साइरस मिस्त्री ने कहा कि टाटा समूह के लिए झारखंड हमेशा से महत्वपूर्ण रहा है। वे इतना ही वादा कर सकते हैं कि इस राज्य के विकास में टाटा समूह साङीदार था और आगे भी रहेगा।
एक घंटे तक साथ रहे

रतन टाटा और साइरस मिस्त्री लगभग एक घंटे तक मुख्यमंत्री के साथ रहे। बातचीत में थोड़ी देर के लिए मुख्यमंत्री की पत्नी मीरा मुंडा भी शामिल हुईं। सरकार की तरफ से भू-राजस्व मंत्री मथुरा महतो, मुख्य सचिव एसके चौधरी, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव डॉ. डीके तिवारी, भू राजस्व सचिव एनएन पांडेय मौजूद थे। टाटा समूह की तरफ से टाटा स्टील के वाइस चेयरमैन वी मुत्थुरमण, एमडी एचएम नेरूरकर, वाइस प्रेसीडेंट संजीव पॉल समेत कंपनी के कई वरीय अधिकारी मौजूद थे।

साइरस का पहला दौरा
टाटा समूह का उत्तराधिकारी घोषित होने के बाद साइरस मिस्त्री का यह पहला झारखंड दौरा है। रतन टाटा अब तक कई राज्यों का साइरस मिस्त्री के साथ दौरा कर चुके हैं। टाटा घराने के लिए झारखंड हमेशा महत्वपूर्ण रहा है। रतन टाटा परिचय कराने के लिए अपने उत्तराधिकारी को लेकर रांची आए और सीएम से मुलाकात के बाद दोनों जमशेदपुर रवाना हो गए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रिश्तों के नए युग का आगाज