DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एनटीपीसी झारखंड इकाई परियोजना स्थल में बदलाव के संकेत

झारखंड में एनटीपीसी की 8,000 करोड़ रुपए बिजली परियोजना को नई जगह ले जाने के मुद्दे पर विचार करने के लिए गठित तीन सदस्यीय समिति ने सुझाव दिया है कि संयंत्र को चतरा जिले में ही प्रस्तावित स्थल पर लगाने या फिर परियोजना स्थल में बदलाव करने के दोनों ही विकल्प खुले हैं।

एनटीपीसी के प्रस्तावित बिजली संयंत्र को कहीं और ले जाने का मामला कोयला और बिजली मंत्रालयों के बीच विवाद का मुद्दा बना हुआ है क्योंकि संयंत्र ऐसी जगह पर स्थापित करने का फैसला किया गया है जहां छह अरब डालर का कोयला भंडार है।

समिति के अध्यक्ष और योजना आयोग के सदस्य बी के चतुव्रेदी ने कहा मैंने दो विकल्पों का सुझाव दिया है या तो इस संयंत्र को किसी और जगह ले जाया जा सकता है या फिर उसी जगह पर स्थापित किया जा सकता है क्योंकि यहां से कोयले का खनन 30 साल बाद ही हो सकता है।

वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी की अध्यक्षता में मंत्रिसमूह ने पिछले साल योजना आयोग के सदस्य बी के चतुर्वेदी की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय समिति का गठन किया था। समिति को एनटीपीसी की झारखंड के नार्थ करनपुरा में प्रस्तावित 1,980 मेगावाट की परियोजना को अन्यत्र स्थापित किये जाने के मुद्दे पर विचार करना था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एनटीपीसी झारखंड इकाई परियोजना स्थल में बदलाव के संकेत