DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मणिपुर का पीएलए दे रहा झारखंड नक्सलियों को प्रशिक्षण

पूर्वोत्तर के चरमपंथी समूह अब झारखंड में वामपंथी उग्रवादियों के साथ हाथ मिलाते प्रतीत हो रहे हैं क्योंकि मणिपुर का प्रतिबंधित संगठन पीपल्स लिबरेशन आर्मी राज्य के नक्सली समूहों को हथियार चलाने का प्रशिक्षण दे रहा है।

चाइबासा में सीआरपीएफ के सामान्य अभियानों के उप निरीक्षक भानुप्रताप सिंह ने बताया विभिन्न अभियानों के तहत हमने कई बार छापा मारा और सबूत पाए कि मारे गए लड़ाके पूर्वोत्तर के संगठनों के थे। इससे साफ संकेत मिलता है कि पूर्वोत्तर के सशस्त्र विद्रोहियों और झारखंड के नक्सली संगठनों के बीच संबंध है।

लातेहार जिले के सरजू जंगलों में केंद्रीय अर्धसैनिक बल और राज्य पुलिस मिल कर नक्सलियों और पीएलए के विद्रोहियों के खिलाफ संयुक्त अभियान चला रहे हैं। अर्धसैनिक बल के एक अन्य वरिष्ठ अधिकारी ने कहा हमें सूचना मिली कि मणिपुर की पीपल्स लिबरेशन आर्मी का एक गुट झारखंड में सक्रिय नक्सली समूहों को हथियार चलाने का प्रशिक्षण देने के लिए यहां आया।

हमारी सूचना के अनुसार, बड़ी संख्या में पीएलए के कैडर यहां वामपंथी चरमपंथियों के गुटों में शामिल होंगे। सीआरपीएफ के अधिकारी ने दावा किया कि सरजू जंगलों में चलाए जा रहे तलाशी अभियान का कूट नाम ऑपरेशन होप 2 है। इस माह के शुरू में आरंभ किए गए इस अभियान के दौरान सबूत मिले हैं कि पूर्वोत्तर के समूह यहां प्रतिबंधित नक्सली समूहों के साथ हाथ मिला रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मणिपुर का पीएलए दे रहा झारखंड नक्सलियों को प्रशिक्षण