DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लुकस हत्याकांड की जांच पलामू डीआइजी करेंगे

लातेहार जिले के नवारनागु निवासी लुकस मिंज की हत्या की जांच पलामू डीआइजी करेंगे। सोमवार को विधानसभा में मामला उठने पर सरकार ने आश्वासन दिया। इसे भाकपा माले विधायक विनोद सिंह ने उठाया था। उन्होंने इस हत्याकांड की सीबीआई अथवा न्यायिक जांच की मांग रखी थी।

अल्पसूचित प्रश्न के माध्यम से उठाए गए सवाल पर प्रभारी मंत्री वैद्यनाथ राम ने कहा कि इस घटना की जांच गढ़वा और लातेहार पुलिस अधीक्षक की देखरेख में डीएसपी द्वारा करायी जा रही है। जांच रिपोर्ट संतोषजनक नहीं होने पर ही वाह्य एजेंसी से जांच करायी जाएगी। उनके जवाब से विनोद सिंह संतुष्ट नहीं हुए और वेल में आकर बैठ गए।

बाद में अध्यक्ष के कहने पर मंत्री ने डीआइजी से जांच कराने की हामी भरी। माले विधायक का कहना है कि लुकस मिंज की हत्या पुलिस द्वारा की गई है, जबकि सरकार इससे इनकार कर रही है। विधायक ने कहा कि चूंकि लुकस की हत्या पुलिस द्वारा की गई है, इसलिए उसी से इसकी जांच कराना उचित नहीं होगा। इससे भुक्तभोगी को इंसाफ नहीं मिलेगा।

जांच में निष्पक्षता नहीं रहेगी। इससे ध्यान में रखकर वाह्य एजेंसी से जांच होनी चाहिए।
क्या है मामला : लुकस की हत्या 31 जनवरी 2012 को पुलिस अभियान के दौरान हुई थी। हत्या के बाद शव को दफना दिया गया था। कब्र से लाश निकाल कर 17 फरवरी को पोस्टमार्टम कराया गया।

रिपोर्ट में लुकस की हत्या गोली से होने की पुष्टि हुई है। बरवाडीह थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी गई है। यह खबर सबसे पहले हिन्दुस्तान ने 12 फरवरी को प्रमुखता से प्रकाशित की थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लुकस हत्याकांड की जांच पलामू डीआइजी करेंगे