DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत-यूएस उद्यमियों की चिंताओं पर ध्यान देंगे: मुखर्जी

कर कानून में पिछली तिथि से बदलाव से जुड़ी आशंकाओं को दूर करते हुए वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी ने शनिवार को कहा कि भारत कानूनी दायरे में अमेरिकी उद्योगपतियों की चिंताओं को दूर करने के लिए तैयार है।

उन्होंने कहा कि हमारी नीति पारदर्शी है, जब भी कोई आशंका हो, हम उसे सुनने और समायोजित करने के लिए तैयार हैं।

मुखर्जी ने यहां एक संस्थान पीटर जी पीटरसन इंस्टीच्यूट फॉर इंटरनेशनल इकोनॉमिक्स में अमेरिकी उद्योगपतियों की चिंता से जुड़े सवालों के जवाब में कहा कि किसी खास मुद्दे पर हमारी सोच फिक्स नहीं है, लेकिन जो कुछ भी किया जायेगा अथवा किया जाना है वह पूरी तरह से कानूनी दायरे में होगा।

उन्होंने कहा कि अमेरिकी उद्योग को कुछ संदेह है कि भारत की कर प्रणाली में स्थिरता है या नहीं। यह स्थिर है। मौजूदा संशोधन जिसके बारे में बहस हो रही है, उसकी प्रकृति स्पष्टीकरण जैसी है न कि इसके जरिये कानून में कोई व्यापक बदलाव किया जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:भारत-यूएस उद्यमियों की चिंताओं पर ध्यान देंगे: मुखर्जी