DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरकार आर्थिक मामलों पर सहमति को प्रयासरत: प्रणव

आर्थिक क्षेत्रों में आयी शिथिलता पर चिंता जताते हुए वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी ने मंगलवार को कहा कि सरकार सुधारों के मामले में व्यापक सहमति बनाने के लिए प्रयास करेगी, क्योंकि समस्याओं से पार पाने में अर्थव्यवस्था सक्षम है।

प्रणव ने राज्यसभा में 2011-12 के लिए अनुदान की अनुपूरक मांगों पर हुई चर्चा के जवाब में यह बात कही। उन्होंने कहा कि औद्योगिक विकास दर के नकारात्मक रहने के मद्देनजर सवाल उठाये जा रहे हैं कि क्या विकास मंद पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि इस संकट को पार पाने के लिए हमारे पास क्षमता और मजबूती दोनों है।

गौरतलब है कि अक्टूबर में औद्योगिक उत्पाद 5.1 प्रतिशत घट गया है और रुपया घटकर सर्वकालिक निचले स्तर 53 रुपये प्रति डालर के स्तर पर आ गया है। वित्त मंत्री ने कहा कि अर्थव्यवस्था में सुधार के लिए संसद और अन्य संस्थानों का बिना व्यवधान के कामकाज करना भी जरूरी है। उन्होंने संसद के बार बार बाधित होने पर निराशा जतायी। उन्होंने कहा कि हमें संसद में अस्थिरता को संस्थागत नहीं बनाना चाहिए। उन्होंने कहा कि गठबंधन सरकार 2000 के बाद से स्थिर हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सरकार आर्थिक मामलों पर सहमति को प्रयासरत: प्रणव