DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विदेशी निवेशकों की धन निकासी चिंता का विषय: प्रणव

विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) द्वारा भारत से तेजी से धन निकाले जाने पर चिंता जाहिर करते हुए वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी ने शुक्रवार को कहा कि ऐस मुख्य रूप से यूरो संकट के कारण हो रहा है और इससे स्थानीय शेयर बाजार प्रभावित हो रहा है।

मुखर्जी ने हिंदुस्तान टाइम्स लीडरशिप सम्मेलन में कहा कि घरेलू शेयर बाजार में इस समय उतार-चढ़ाव और एफआईआई की निकासी का यूरो क्षेत्र के संकट से सीधा संबंध है। वित्तमंत्री हालांकि इस साल अब तक प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) की के प्रवाह से संतुष्ट दिखे क्योंकि इसमें वृद्धि हुई है।

उन्होंने कहा कि अब तक संकेत हैं कि पिछले साल के मुकाबले एफडीआई प्रवाह बहुत अच्छा रहा, लेकिन विदेशी फंडों द्वारा धन निकालना चिंता का विषय है। पिछले माह विदेशी संस्थागत निवेशक भारतीय प्रतिभूति बाजार से 3,200 करोड़ रुपए के शुद्ध बिकवाल रहे। एफआईआई द्वारा बिकवाली और रुपए में गिरावट के कारण शेयर बाजारों में हाल में भारी उतार-चढ़ाव हुआ है।

इस साल अब तक बंबई स्टाक एक्सचेंज के प्रमुख शेयर सूचकांक सेंसेक्स में 19 फीसदी की गिरावट हुई है। यह 10 जनवरी 2008 के 21,206.77 के मुकाबले  इस समय 22 फीसदी नीचे है। जहां तक एफडीआई प्रवाह की बात है तो यह इस वर्ष अप्रैल से सितंबर की अवधि में 74 फीसदी चढ़कर 19.13 अरब डालर हो गया जो पिछले साल की समान अवधि में 11 अरब डालर था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विदेशी निवेशकों की धन निकासी चिंता का विषय: प्रणव