DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अपनी जिम्मेदारी नहीं समझ रहे पीएम: राजेंद्र सिंह

सरकार पर गंगा नदी की अनदेखी का आरोप लगाते हुए दो अन्य लोगों के साथ राष्ट्रीय गंगा नदी घाटी प्राधिकरण की सदस्यता छोड़ने वाले मैग्सायसाय पुरस्कार विजेता राजेंद्र सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री देश के प्रमुख के तौर पर इस नदी के प्रति अपनी जिम्मेदारी नहीं समझ रहे।

पानी वाले बाबा नाम से मशहूर सिंह ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि वह एक सप्ताह के भीतर गंगा लोक विधेयक का मसौदा जारी करेंगे जिसमें इस पवित्र नदी को बचाने के लिए मजबूत तथा प्रभावी कानूनी कदम सुझाए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि वह (मनमोहन सिंह) गंभीर प्रधानमंत्री हैं लेकिन मुझे इस बात की नाराजगी है कि वह गंगा के प्रति अपनी जिम्मेदारियों को नहीं समझते। प्रधानमंत्री ने कभी (एनजीआरबीए के) सदस्यों के सुझावों और गतिविधियों को समझने की कोशिश नहीं की।

सिंह ने रवि चोपड़ा और आरएच सिद्दीकी के साथ कल प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को अपने इस्तीफे सौंप दिए। प्रधानमंत्री प्राधिकरण के अध्यक्ष हैं। इन तीनों ने जानेमाने पर्यावरणविद जीडी अग्रवाल के साथ एकजुटता प्रदर्शित करते हुए इस्तीफा सौंपा। अग्रवाल गंगा की सफाई की मांग को लेकर आमरण अनशन पर बैठ गए हैं।

तीनों सदस्यों ने प्रधानमंत्री को भेजे अपने इस्तीफे में कहा कि हम विनम्रता पूर्वक इस ओर ध्यान दिलाना चाहते हैं कि प्राधिकरण के गठन को करीब तीन साल हो गए लेकिन इसकी बैठक केवल दो बार हुई है। हमारे बार-बार अनुरोधों के बावजूद पिछले डेढ़ साल में एक भी बैठक नहीं हुई। यह भी रिकार्ड में हैं कि प्राधिकरण ने गंगा के संबंध में किसी भी अहम मुद्दे पर कोई सक्षम कार्रवाई नहीं की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अपनी जिम्मेदारी नहीं समझ रहे पीएम: राजेंद्र सिंह