DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईपीएस नरेन्द्र की मौत से राज्य में शोक की लहर

भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के अधिकारी नरेन्द्र कुमार की मध्यप्रदेश में हत्या की खबर से बिहार में भी शोक की लहर दौड़ गई है। वर्ष 2009 बैच के आईपीएस अधिकारी नरेन्द्र कुमार बिहार कैडर के थे और प्रशिक्षण के दौरान उनका पहला पदस्थापन पूर्णियां जिले में हुआ था।

पिछले वर्ष प्रशिक्षण के दौरान ही इस जाबांज अधिकारी ने कोशी के आतंक कहे जाने वाले कुख्यात अपराधी वकील सिंह को गिरफ्तार करने में अहम भूमिका निभाई थी। पूर्णियां के पुलिस अधीक्षक अमित लोढ़ा ने शुक्रवार को बातचीत में दिलेर अधिकारी नरेन्द्र कुमार की मौत पर दुख व्यक्त करते हुए कहा कि कुमार ने उनके ही मातहत प्रशिक्षण लिया था।

उन्होंने कहा कि कुमार में अच्छे अधिकारी की सभी खुबियां विद्यमान थी। वह करीब चार माह पूर्णियां मे रहे और इस दौरान उन्होंने अपने कार्यों से सभी को प्रभावित किया। लोढ़ा ने कहा कि उनके निधन से पुलिस महकमे ने एक अच्छा अधिकारी खो दिया है।

उन्होंने कहा कि कुमार का मन बिहार में लग गया था और वह यहां से जाना नही चाहते थे  लेकिन पारिवारिक कारणों से उन्हें अपना तबादला मध्यप्रदेश कराना पड़ा। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि कुमार से छोटी ही अवधि में उनका संबंध परिवार की तरह हो गया था। उनके निधन से उन्हें व्यक्तिगत तौर पर काफी दुख हुआ है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आईपीएस नरेन्द्र की मौत से राज्य में शोक की लहर