DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एक आईपीएस दंडित, पांच अन्य पर होगी कार्रवाई


बिहार में वरिष्ठ अफसरों के आदेशों के विपरीत काम करने और कानून के उल्लंघन के आरोपी 25 आईपीएस अफसरों में एक को दंडित किया गया है और पांच पर कार्रवाई की प्रक्रिया चल रही है। सोमवार को विधानसभा में जल संसाधन मंत्री विजय कुमार चौधरी ने भाजपा के डा. अच्युतानंद के अल्पसूचित प्रश्न के जवाब में यह जानकारी दी।

डॉ. अच्युतानंद ने कहा कि वरीय पुलिस अफसर शफी आलम, मनोजनाथ, एनसी ढोंढ़ियाल, डीपी ओझा और रमेश चन्द्र सिन्हा पर आरोप तय हो जाने के बावजूद कार्रवाई नहीं हो पा रही है। इस पर मंत्री विजय कुमार चौधरी ने जानकारी दी कि पांच वरीय अफसरों पर विभागीय कार्रवाई पूरी कर दंड के बिंदु पर संघ लोक सेवा आयोग और केन्द्रीय गृह मंत्रलय से सहमति मांगी गई है।

वहीं जांच के बाद चार अफसरों को आरोप मुक्त कर दिया गया है। जबकि, 15 वरीय अफसरों पर अभी विभागीय कार्रवाई चल रही है। उन्होंने स्पष्ट किया कि किसी भी अधिकारी पर लगे आरोपों को दबाने या टालने की कोशिश नहीं होगी।

राजेश्वर राज समेत कई विधायकों के ध्यानाकर्षन सूचना पर चौधरी ने कहा कि विक्रमगंज के थाना प्रभारी अरुण कुमार को निलंबित कर दिया गया है। उन पर लगे आरोपों की जांच करने वाले डीएसपी से भी कार्रवाई में देरी करने के कारण स्पष्टीकरण पूछा गया है। राज की इस मांग पर कि छेड़खानी करने वाले दारोगा पर एफआईआर कब तक होगी?

चौधरी ने कहा कि मामला सिद्ध होने पर आगे भी कार्रवाई होगी। श्री राज ने कहा कि नशे में धुत थाना प्रभारी ने शत्रुघ्न साह के सामने ही उनकी दो भतीजियों के साथ छेड़खानी की। भद्दी-भद्दी गालियां दीं और मारपीट भी की। विरोध करने पर थाना में बंद कर दिया।

श्यामदेव पासवान को उन्होंने बताया कि टनकुप्पा थाना भवन में पेयजल और शौचालय की व्यवस्था कर दी जाएगी। विनोद कुमार सिंह को उन्होंने बताया कि 510 दारोगाओं की बहाली की प्रक्रिया चल रही है। चयन होते ही आजमनगर थाने में दारोगाओं के सभी पद भर दिए जाएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एक आईपीएस दंडित, पांच अन्य पर होगी कार्रवाई