DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

2016-17 तक बिजली मामले में अव्वल होगा बिहार: यादव

बिहार के बिजली मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव ने शनिवार को कहा कि उर्जा की भारी कमी झेल रहा राज्य 2016-17 तक बिजली अधिशेष हो जाएगा और उस समय यहां 8200 मेगावाट विद्युत उत्पादन क्षमता सृजित हो जाएगी।

बिजली विभाग के बजट अनुदान मांग पर चर्चा के बाद सरकार की ओर से वक्तव्य रखते हुए बिजेंद्र प्रसाद यादव ने कहा कि 2016-17 तक बिहार बिजली की उपलब्धता के मामले में अधिशेष राज्य बन जाएगा और उस समय तक 8200 मेगावाट क्षमता सजित हो जाएगी।

यादव ने कहा कि राज्य भले ही वर्तमान में बिजली संकट से जूझ रहा है, लेकिन बिजली खरीदने के अलावा कई विद्युत संयंत्रों के विस्तारित क्षमता से राज्य आने वाले समय में बिजली उत्पादन में आत्मनिर्भर होगा।

उन्होंने कहा कि 2015-16 में ही डागमारा, फरक्का, कटवा और तलचर स्टेज-2 सहित कुछ अन्य परियोजनाओं के पूरा हो जाने से 4000 मेगावाट बिजली की उपलब्धता होगी। यह वर्तमान आवंटन के अतिरिक्त होगी।

बिजली मंत्री ने कहा कि राज्य में 1977 के बाद बिजली का कोई नया संयंत्र नहीं लगाया गया। इस कारण से जब जदयू भाजपा सरकार 2005 में सत्ता आयी बिहार का उत्पादन शून्य था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:2016-17 तक बिजली मामले में अव्वल होगा बिहार: यादव