DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रत्येक अनुमंडल में खुलेगा डिग्री कॉलेज

बिहार सरकार ने राज्य के जिलों में सरकारी डिग्री कॉलेज की कमी को स्वीकार करते हुए मंगलवार को कहा कि प्राथमिकता के आधार पर पहले प्रति अनुमंडल एक-एक महाविद्यालय सुनिश्चित किया जाएगा।

शिक्षा मंत्री प्रशांत कुमार शाही ने कहा कि सरकार प्राथमिकता के आधार पर राज्य के प्रत्येक अनुमंडल में एक-एक कॉलेज शुरू करने का काम कर रही है। कई अनुमंडल ऐसे हैं, जहां पहले से कालेज हैं। मगर जो अनुमंडल कालेज विहीन हैं वहां प्राथमिकता के आधार पर महाविद्यालय खोलने के कदम उठाये जा रहे हैं।

जदयू विधायक कृष्णनंदन यादव के तारांकित प्रश्न और राजद के अख्तरूल ईमान के पूरक प्रश्न पर शाही ने कहा कि जिन जिलों की आबादी अधिक है, वहां एक अनुमंडल में एक से अधिक कालेज खोलने पर भी विचार किया जाएगा। प्राथमिक तौर पर उन अनुमंडलों में कालेज शुरू होंगे, जहां पहले से कालेज नहीं है।

वहीं अनुसूचित जाति और जनजाति विभाग मंत्री जीतन राम मांझी ने बताया कि राज्य के प्रत्येक प्रखंड मुख्यालय में अनुसूचित जाति और जनजाति के विद्यार्थियों के लिए आवासीय स्कूल खोले जाने का अभी कोई प्रावधान नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:प्रत्येक अनुमंडल में खुलेगा डिग्री कॉलेज