DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संसदीय चुनाव से दुश्मनों को लगेगा झटका: खमैनी

ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्लाह सय्यद अली खमैनी ने कहा है कि देश में होने जा रहे संसदीय चुनाव शत्रु देशों के लिए एक और झटका होंगे।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक खमैनी ने बुधवार को कहा कि शुक्रवार को होने जा रहे चुनाव ईरान पर आधिपत्य जमाने वाली शक्तियों के लिए एक और झटका होंगे। उन्होंने कहा कि ये चुनाव 11 फरवरी को इस्लामी क्रांति की वर्षगांठ पर आयोजित रैलियों से भी बड़ा झटका साबित होगा।

खमैनी ने बुधवार को कहा कि शुक्रवार को होने वाला मतदान पूर्व के चुनावों से ज्यादा महत्वपूर्ण है, क्योंकि शत्रुओं ने अपनी सारी बची-खुची ऊर्जा इन संसदीय चुनावों में लगा दी है।

बीते 11 फरवरी को हजारों ईरानी लोगों ने इस्लामी क्रांति की वर्षगांठ मनाई। ईरानियों ने अमेरिका व इजरायल के खिलाफ नारेबाजी कर यह वर्षगांठ मनाई थी।

जनवरी में खमैनी ने ईरानी लोगों से दो मार्च, 2012 को होने जा रहे संसदीय चुनावों में सक्रियता से भाग लेने के लिए कहा था। उन्होंने कहा था कि देश के दुश्मन यहां के लोगों को चुनावों में हिस्सा लेने के प्रति हतोत्साहित करने की कोशिश कर रहे हैं।

एक रिपोर्ट के मुताबिक 4.8 करोड़ से ज्यादा ईरानी मतदान के योग्य हैं। ईरानी मजलिस (संसद) की 290 सीटों पर चुनाव के लिए 3,400 उम्मीदवार मैदान में हैं।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:संसदीय चुनाव से दुश्मनों को लगेगा झटका: खमैनी