DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाकिस्तान में 30 उग्रवादियों और 23 सैनिकों की मौत

पाकिस्तान के अशांत खबर कबाइली क्षेत्र में सुरक्षा बलों और तालिबान समर्थक विद्रोहियों के बीच संघर्ष में 30 उग्रवादी तथा 23 सैनिक मारे गए। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, स्पेशल सर्विस ग्रुप के कमांडों के साथ सैनिकों द्वारा खबर एजेंसी की तिराह वैली में उग्रवादियों के खिलाफ निर्णायक अभियान छेड़े जाने पर यह संघर्ष हुआ।
   
सप्ताहांत में छिड़े संघर्ष में कमांडो समेत 23 सैनिक तथा कबाइली लश्कर या मीलिशिया के कई सदस्य मारे गए। सरकारी सूत्रों के हवाले से डॉन समाचारपत्र ने अपनी वेबसाइट पर यह जानकारी दी है। रिपोर्ट में बताया गया है कि करीब 30 उग्रवादी मारे गए तथा सैंकड़ों अन्य घायल हो गए। पिछले सप्ताह शुरू किए गए अभियान में सैंकड़ों उग्रवादियों के मारे जाने की रिपोर्ट है।
  
खबर एजेंसी में ताजा हालात के बारे में कोई आधिकारिक जानकारी नहीं मिली है। रिपोर्ट के अनुसार, बीती देर रात बारा उपमंडल के अक्का खेल इलाके में सुरक्षा बलों के साथ संघर्ष में कम से कम दस उग्रवादी मारे गए। शुक्रवार को फ्रंटियर कोर की मीडिया शाखा ने संघर्ष में चार सुरक्षाकर्मियों तथा 14 उग्रवादियों के मारे जाने की पुष्टि की थी।

सूत्रों ने बताया कि एसएसजी कमांडो, सेना तथा फ्रंटियर कोर के सैनिक तिराह वैली, खासकर ओरकजई कबाइली क्षेत्र से लगते सीमाई इलाके में उग्रवादियों के अंतिम गढ़ को ध्वस्त करने में लगे हैं। इस इलाके को प्रतिबंधित तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान तथा विदेशी लड़ाकों का गढ़ माना जाता है।
   
हेलीकॉप्टरों और जेट लड़ाकू विमानों से उग्रवादियों के ठिकानों को निशाना बनाए जाने के कारण अभियान निर्णायक चरण में पहुंच गया है। सैनिक तथा स्थानीय मिलिशिया के सदस्य इलाके को साफ करने में जुटे हैं। जमीनी बलों के आगे बढ़ना शुरू करने तथा उग्रवादियों के विरोध को ध्वस्त करने के लिए गहन अभियान छेड़े जाने के बाद गोलीबारी तथा मोर्टारों से बमबारी तेज कर दी गयी है।
   
सुरक्षा विशेषज्ञों ने संकेत दिया है कि तालिबान और उसके सहयोगी लश्कर-ए-इस्लाम द्वारा क्षेत्र में अपनी पकड़ को मजबूत करने के बीच तिराह वैली में निर्णायक हमला किया जाएगा। प्रांतीय राजधानी पेशावर समेत खबर पख्तूनख्वा के शांति वाले इलाकों में दोनों समूहों ने गंभीर चुनौती पैदा कर दी है।
   
कबाइली क्षेत्र के पूर्व सुरक्षा मंत्री महमूद शाह का कहना है कि यदि तिराह वैली को उग्रवादियों से मुक्त नहीं कराया गया, तो प्रशासन के लिए यह समस्या बन जाएगा। उन्होंने कहा कि बारा इलाके के उग्रवादी तथा दारा आदमखेल के तालिबान लड़ाके तिराह वैली में जाकर फिर से संगठित हो रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पाकिस्तान में 30 उग्रवादियों और 23 सैनिकों की मौत