DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

'पाकिस्तान में हो रहा है हिन्दू लड़कियों का अपहरण'

पाकिस्तान में रहने वाले हिन्दू समुदाय के लोग इन दिनों बेहद नाराज हैं और खुद को असहाय महसूस कर रहे हैं। एक प्रमुख मानवाधिकार कार्यकर्ता और हिन्दू नेता का कहना है कि हिन्दुओं को उनकी लड़कियों के अपहरण और जबरन धर्मांतरण जैसी घटनाओं का सामना करना पड़ रहा है।

पाकिस्तान मानवाधिकार आयोग की अध्यक्ष जोहरा यूसुफ ने इस्लामाबाद से टेलीफोन पर बताया कि हिन्दू समुदाय डरा हुआ नहीं हैं...बल्कि नाराज है और असहाय महसूस कर रहा है। उन्होंने कहा कि बलूचिस्तान और सिंध प्रांतों में हिन्दू लकड़ियों का जबरन धर्मांतरण और फिरौती के लिए अपहरण किया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि हाल ही में जबरन धर्म परिवर्तन का एक मामला उच्चतम अदालत में आया, जिसमें एक युवा महिला ने कहा कि वह अपने परिवार के पास वापस लौटना चाहती है।

मानवाधिकार कार्यकर्ता ने कहा कि हिन्दू समुदाय के लोग जबरन धर्म परिवर्तन को खत्म करने के लिए एक कानून की मांग कर रहे हैं। एक अनुमान के अनुसार पाकिस्तान की कुल 17 करोड़ की आबादी में 5.5 प्रतिशत हिन्दू लोग हैं। इनमें 90 प्रतिशत सिंध में रहते हैं, जबकि शेष पंजाब और बलूचिस्तान प्रांत में बसे हुए हैं।

पाकिस्तान में कुछ राजनीतिक पार्टियां और हिन्दू संगठन सिंध प्रांत में हिन्दु समुदाय की लड़कियों के अपहरण और उनके जबरन धर्मातरण से खासे दुखी हैं। वह इसके विरोध में सड़कों पर प्रदर्शन भी कर रहे हैं।

मानवाधिकार क्लब, युवा हिन्दू फोरम, पाकिस्तान अल्पसंख्यक आयोग, आवामी जमहूरी पार्टी, पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ और पाकिस्तान हिन्दू परिषद ने रविवार को इन घटनाओं के विरोध में कराची प्रेस क्लब के सामने प्रदर्शन भी किया था।

इन सभी ने आरोप लगाया है कि मीरपुर मठेलो शहर में एक हिन्दू लड़की रिंकल कुमारी का अपहरण कर उसका जबरन धर्म पर्वितन (हिन्दू से इस्लाम) कर दिया गया। एक अन्य लड़की आशा कुमारी को भी महीने भर पहले जेकोबाबाद से अगवा कर लिया गया था।

पाकिस्तान हिन्दू परिषद के संरक्षक रमेश कुमार वंकवानी ने आईएएनएस को कराची से टेलीफोन पर बताया कि देश में हिन्दुओं के लिए वातावरण सुरक्षित नही है।

उन्होंने कहा कि हिन्दुओं के खिलाफ अपराधों में वृद्धि हुई है। वंकवानी ने यह भी बताया कि हिंगलाज श्वेता मंडी के अध्यक्ष गंगाराम मोटीआनी का गत छह अप्रैल को बलूचिस्तान के बेला क्षेत्र से अपहरण कर लिया गया। यह घटना हिंगलाज माता मंदिर में होने वाले हिन्दू वार्षिक सम्मेलन से कुछ दिन पहले हुई।

उन्होंने कहा कि 2007 के बाद इस तरह की घटनाओं में तेजी आई है। प्रत्येक वर्ष हमारे पास लगभग 50 हिन्दू लड़कियों के जबरन धर्म परिवर्तन की शिकायतें आती हैं। उन्होंने धर्म परिवर्तन को रोकने के लिए एक कानून बनाने की मांग की हैं।

उल्लेखनीय है कि बीते वर्ष नवम्बर में पाकिस्तान के सिंध प्रांतों में तीन हिन्दू डॉक्टर भाईयों- अजित कुमार, अशोक कुमार, और नरेश कुमार की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:'पाकिस्तान में हो रहा है हिन्दू लड़कियों का अपहरण'