DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आउटडोर फोटो लाइब्रेरी

फोटोग्राफी के शौकीनों के लिए खुली फोटो लाइब्रेरी का बढ़ रहा है आकर्षण। तो समय निकाल कर यहां जरूर जाएं, जहां आपकी जानकारी के साथ अनुभवी फोटोग्राफरों का सान्निध्य भी मिलेगा।

फोटोग्राफी के शौकीन हैं तो फोटोग्राफरों और लेखकों के समूह ‘रंग’ की ओपन लाइब्रेरी आपके लिए आदर्श है। चौबीस वर्षीय चंदन बोस ने अपने मित्रों विकी रॉय, विक्रम मुलदियार और ज्योत्सना त्रिपाठी के साथ मिल कर विजुअल आर्ट्स को बढ़ावा देने के लिए यह शुरुआत की है। विकी रॉय कहते हैं, ‘हमने हाल में एक फोटो फेस्टिवल में शिरकत की थी, जहां कई फोटोग्राफरों के बारे में जानकारी उपलब्ध नहीं थी। तभी यह विचार हमें आया था।’

चंदन बोस के अनुसार,‘अधिकांश फोटो जर्नल्स और किताबों की कीमत 5 से 6 हजार होती है, जिन्हें हर व्यक्ति वहन नहीं कर सकता, इसलिए हमने शहर के नामी-गिरामी फोटोग्राफरों से उनके प्रकाशित कार्य और पुस्तकों को हमसे साझा करने की अपील की।’

इस समय समूह के पास रघु राय, दयनिता सिंह, पाब्लो बार्थोलोम्यु, राम रहमान और प्रबुद्ध दासगुप्ता के 100 से अधिक जर्नल्स, किताबें और कॉफी टेबल बुक्स हैं। समूह से जुड़ी लेखिका ज्योत्सना त्रिपाठी कहती हैं, ‘यहां युवाओं को स्थापित फोटोग्राफरों से मिलने का मौका मिलता है।’ जामिया मिल्लिया इस्लामिया के ललित कला विद्यार्थी निमित निगम बताते हैं, ‘यहां खुले मैदान में अपने पसंदीदा फोटोग्राफर के साथ बैठ कर कैमरा एंगल्स पर बात करना एक सपने से कम नहीं।’ लाइब्रेरी युवाओं के बीच खासी लोकप्रियता हासिल कर रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आउटडोर फोटो लाइब्रेरी