DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गेंदबाजों के लिए खौफ क्रिस गेल

आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बंगलौर की ओर से खेल रहे क्रिस्टोफर हेनरी गेल यानी क्रिस गेल का जन्म कैरेबियन द्वीप जमैका के किंग्सटन में 21 सितंबर 1979 को हुआ था। गेल 2007 से 2010 तक वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम की कप्तानी भी कर चुके हैं

क्रिकेट की दुनिया में क्रिस गेल एक ऐसा नाम है, जिससे धाकड़ से धाकड़ गेंदबाज भी खौफ खाते हैं। बायें हाथ के बल्लेबाज गेल जबर्दस्त हीटर हैं, जो किसी भी समय किसी भी गेंदबाज की धज्जियां उड़ाने की क्षमता रखते हैं। उन्हें लंबे-लंबे छक्के लगाने के लिए जाना जाता है। वे दायें हाथ के उपयोगी ऑफ ब्रेक गेंदबाज भी हैं। गेंदबाजी से उन्होंने अपनी टीम को कई बार शानदार सफलताएं दिलाई हैं। आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बंगलौर (आरसीबी) की ओर से खेल रहे क्रिस्टोफर हेनरी गेल यानी क्रिस गेल का जन्म कैरेबियन द्वीप जमैका के किंग्सटन में 21 सितंबर 1979 को हुआ था।

गेल 2007 से 2010 तक वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम की कप्तानी भी कर चुके हैं। अंतरराष्ट्रीय ट्वेंटी-20 मैचों में पहला शतक (117 रन) लगाने का रिकॉर्ड उन्हीं के नाम है। यह उपलब्धि उन्होंने पहले ट्वेंटी-20 विश्व कप के पहले मैच में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ हासिल की थी। इस पारी के साथ ही वे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के तीनों प्रारूपों (फॉर्मेट)- टेस्ट, वनडे और ट्वेंटी-20 में शतक बनाने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बने थे। आईपीएल के चौथे सीजन यानी 2011 में आरसीबी की ओर से खेलते हुए उन्होंने 44 छक्कों व 56 चौकों की मदद से सबसे ज्यादा 608 रन बनाए और ‘ऑरेंज कैप’ के हकदार बने। इस साल कुल 12 मैचों में उन्होंने दो शतक व तीन अर्धशतक लगाए। उनका औसत 67.55 और स्ट्राइक रेट 183.13 था।

गेल ने अपना पहला फर्स्ट क्लास मैच 19 साल की उम्र में जमैका की ओर खेला था और टेस्ट करियर की शुरुआत जिम्बाब्वे के खिलाफ 16 मार्च 2000 को पोर्ट ऑफ स्पेन में और वनडे इंटरनेशनल करियर की शुरुआत 11 सितंबर 1999 को भारत के खिलाफ टोरंटो में की थी। उन्होंने अपना पहला ट्वेंटी-20 इंटरनेशनल 16 फरवरी 2006 को न्यूजीलैंड के खिलाफ ऑकलैंड में खेला था। गेल ने अब तक 91 टेस्ट मैच खेले हैं, जिनमें 13 शतकों और 33 अर्धशतकों के साथ 41.65 की औसत से 6,373 रन बनाए हैं। वहीं 228 वनडे इंटरनेशनल मैचों में 39.06 की औसत व 83.95 की स्ट्राइक रेट से 8,087 रन बनाए हैं, जिनमें 19 शतक और 43 अर्धशतक शामिल हैं।

साथ ही उन्होंने अब तक 20 इंटरनेशनल ट्वेंटी-20 मैच खेले हैं, जिनमें एक शतक व पांच अर्धशतकों की मदद से 32.47 की औसत व 144.49 की बेहतरीन स्ट्राइक रेट से 617 रन बनाए हैं। टेस्ट मैचों में उनका सर्वोच्च स्कोर 333 रन, वनडे मैचों में 153 रन नाबाद (नॉट आउट) और ट्वेंटी-20 इंटरनेशनल में 117 रन है। इसके अलावा उन्होंने टेस्ट मैचों में 72, वनडे इंटरनेशनल 156 और ट्वेंटी-20 इंटरनेशनल में 12 विकेट चटकाए हैं। ये आंकड़े बताते हैं कि वे कितने अच्छे ऑलराउंडर हैं।

गेल के नाम टेस्ट क्रिकेट में एक और बेजोड़ उपलब्धि है। वे दुनिया के उन चार बल्लेबाजों के अनूठे क्लब में शामिल हैं, जिन्होंने टेस्ट मैचों में दो बार तिहरा शतक (ट्रिपल सेंचुरी) लगाया है। उनके अलावा ये कारनामा सिर्फ उनके ही देश के ब्रायन लारा, ऑस्ट्रेलिया के सर डॉन ब्रैडमैन और भारत के वीरेंद्र सहवाग ही कर पाए हैं।
हालांकि वेस्टइंडीज क्रिकेट बोर्ड के साथ अनबन के कारण क्रिस गेल पिछले करीब दो सालों से अपने देश की ओर से टेस्ट व वनडे तथा करीब एक साल से ट्वेंटी-20 इंटरनेशनल नहीं खेल पाए हैं, लेकिन उम्मीद है कि जल्दी ही वे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी कर पाएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गेंदबाजों के लिए खौफ क्रिस गेल